अरविंद केजरीवाल ने कहा कि मैं बार-बार यह कह चुका हूं कि बातचीत बहुत हो चुकी है, किसानों को समाधान चाहिए. कितने महीने तक बातचीत चलेगी, किसानों के दो-तीन डिमांड हैं कि इन कानूनों को वापस लिया जाए, एमएसपी लागू हो, उसे कर देना चाहिए.

नई दिल्ली : दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल (Delhi CM Arvind Kejriwal) ने दिल्ली विधानसभा (Delhi Assembly) में एक कार्यक्रम के बाद मीडिया से बात करते हुए कृषि कानूनों (Agricultural laws) को लेकर केंद्र सरकार (Central Government) पर जमकर बरसे. उन्होंने कहा कि मैं बार-बार यह कह चुका हूं कि बातचीत बहुत हो चुकी है, किसानों को समाधान चाहिए. कितने महीने तक बातचीत चलेगी, किसानों के दो-तीन डिमांड हैं कि इन कानूनों को वापस लिया जाए, एमएसपी लागू हो, उसे कर देना चाहिए.

छठ पूजा को अनुमति नहीं दिए जाने को लेकर भाजपा द्वारा उठाए जा रहे सवालों पर केजरीवाल ने कहा कि छठ पूजा में लोगों को पानी में उतरना होता है, अगर एक भी आदमी को कोरोना हुआ तो पूरा पानी संक्रमित हो जाएगा और जितने लोग वहां पर होंगे उन्हें कोरोना हो सकता है. मैं खुद चाहता हूं कि जिंदगी सामान्य रूप से पटरी पर लौटें, मैं तो चाहता हूं कि लोग धूमधाम से छठ पूजा मनाएं. लेकिन अभी मजबूरी है. दिल्ली ने कोरोना की चार लहर झेली है, पिछली लहर में कितने ही लोगों की मौत हो गई. हम नहीं चाहते कि हमारे लोगों को दोबारा कोरोना हो, मेरी दूसरे दलों के लोगों से अपील है कि इस मुद्दे पर राजनीति ना करें, लोगों को समझाएं कि यह कंडीशन लगाना हमारे लिए बहुत जरूरी है, लोगों की सेहत के लिए उनके परिवार के लिए यह जरूरी है.

साथ ही उन्होंने कहा कि आज महात्मा गांधी और लाल बहादुर शास्त्री का जन्म दिवस है. इन दोनों महान हस्तियों ने देश के लिए बहुत कुछ किया. गांधी जी ने पूरा जीवन देश के लिए समर्पित किया, लाल बहादुर शास्त्री की सादगी, उनकी ईमानदारी के बहुत चर्चे हैं. हमारी सरकार पूरी कोशिश कर रही है कि उनके बताए हुए रास्ते पर आगे चलें. साथ ही केजरीवाल ने बताया कि जलियांवाला बाग की खूबसूरत पेंटिंग का आज अनावरण किया है. जलियांवाला बाग याद दिलाता रहता है कि किस तरह से हमारे पूर्वजों ने जान की बाजी लगाकर अंग्रेजों से आजादी दिलाई थी.