देहरादून: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के मन की बात नहीं सुनने पर छात्रों पर जुर्मानादेहरादून: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के मन की बात नहीं सुनने पर छात्रों पर जुर्माना

Dehradun GRD Academy Man Ki Baat Matter : अभिभावकों ने वाट्सएप ग्रुप में स्कूल प्रबंधन द्वारा जारी आदेशों का स्क्रीनशॉट भी दिखाया

देहरादून: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के ‘मन की बात’ कार्यक्रम को सुनने स्कूल नहीं पहुंचने वाले छात्रों से देहरादून के एक स्कूल पर 100 रुपये जुर्माना वसूलने का आरोप लगा है. एक अधिकारी ने शुक्रवार को यह जानकारी दी.

इस संबंध में आदेश स्कूल प्रबंधन की ओर से स्कूल के वाट्सएप ग्रुप में जारी कर दिया गया है.

नेशनल एसोसिएशन फॉर पैरेंट्स एंड स्टूडेंट्स राइट्स के राष्ट्रीय अध्यक्ष आरिफ खान ने इस मामले में कार्रवाई की मांग को लेकर मुख्य शिक्षा अधिकारी देहरादून को पत्र लिखा है.

शिक्षा विभाग ने स्कूल को नोटिस जारी कर तीन दिनों के भीतर जवाब मांगा है।

आरिफ खान ने कहा, “देहरादून की जीआरडी निरंजनपुर अकादमी ने रविवार को मन की बात कार्यक्रम में स्कूल नहीं पहुंचने वाले बच्चों को 100 रुपये जुर्माना लाने या मेडिकल सर्टिफिकेट जमा करने का आदेश जारी किया है. अभिभावकों ने इस आदेश का स्क्रीनशॉट भी दिखाया है।”

मुख्य शिक्षा अधिकारी प्रदीप कुमार ने कहा, ”स्कूल को कारण बताओ नोटिस जारी किया गया है. और अगर तीन दिन के भीतर स्कूल अपना पक्ष नहीं रखता है तो समझा जाएगा कि स्कूल की तरफ से छात्रों से पैसे मांगे गए थे. इसके बाद विभाग कार्रवाई करेगा।”

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के मासिक रेडियो शो ‘मन की बात’ ने 30 अप्रैल को 100 एपिसोड पूरे कर लिए हैं.

100वां एपिसोड होने के कारण देश भर के स्कूलों समेत कई जगहों पर विशेष कार्यक्रम आयोजित किए गए।

By रंजन सिन्हा

रंजन सिन्हा : भोजपुरी फिल्म पत्रकार और जनसंपर्क अधिकारी (पीआरओ) हैं, जिनके पास मनोरंजन उद्योग में व्यापक अनुभव है। उन्हें भोजपुरी फिल्म उद्योग की गहरी समझ है और वे अपनी अंतर्दृष्टिपूर्ण रिपोर्टिंग और भोजपुरी फिल्मों की निष्पक्ष समीक्षा के लिए जाने जाते हैं। रंजन सिन्हा ने एक प्रमुख समाचार पत्र के लिए एक रिपोर्टर के रूप में पत्रकारिता में अपना करियर शुरू किया और जल्द ही भोजपुरी फिल्म उद्योग को कवर करने के लिए चले गए। उसके बाद से उन्होंने खुद को क्षेत्र के सबसे भरोसेमंद और सम्मानित पत्रकारों में से एक के रूप में स्थापित किया है, उनके काम को प्रमुख मीडिया आउटलेट्स में नियमित रूप से प्रदर्शित किया जाता है। पीआरओ के रूप में, रंजन सिन्हा ने भोजपुरी फिल्म उद्योग में कुछ सबसे बड़े नामों के साथ काम किया है, जिससे उन्हें अपनी फिल्मों को बढ़ावा देने और व्यापक दर्शकों तक पहुंचने में मदद मिली है। मार्केटिंग और प्रमोशन पर उनकी पैनी नजर है और ये अपनी इनोवेटिव और इफेक्टिव स्ट्रैटेजी के लिए जाने जाते हैं।

Enable Notifications OK No thanks