पंडित धीरेंद्र कृष्ण शास्त्रीपंडित धीरेंद्र कृष्ण शास्त्री

उदयपुर। बागेश्वर धाम के पंडित धीरेंद्र कृष्ण शास्त्री पर उदयपुर पुलिस ने आरोप लगाया है। एक दिन पूर्व नववर्ष के अवसर पर आयोजित धार्मिक सभा के दौरान दिए गए बयान के संबंध में मुकदमा दर्ज किया गया है. पंडित धीरेंद्र शास्त्री ने कहा कि राजसमंद जिले के कुंभलगढ़ किले में जहां 100 हरे झंडे लगे हैं वहां भगवा झंडा लगाएं। पुलिस ने इस टिप्पणी को धार्मिक हिंसा के लिए उकसाना माना।

उसके खिलाफ शहर के हाथीपोल थाने में मुकदमा दर्ज किया गया है। उदयपुर एसपी विकास शर्मा के मुताबिक, भाषण को आपत्तिजनक और विवादित माने जाने के बाद से प्राथमिकी दर्ज की गई है.

उदयपुर में बागेश्वर धाम के पंडित धीरेंद्र कृष्ण शास्त्री के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर पांच युवकों को गिरफ्तार किया गया

उदयपुर के गांधी मैदान में गुरुवार को धर्मसभा का आयोजन किया गया. महात्मा मंच पर पंडित धीरेंद्र शास्त्री के साथ-साथ बांसवाड़ा के बोधगम्य पंडित देवकीनंदन ठाकुर और संत उत्तम स्वामी समेत कई संत मौजूद थे। साथ ही उदयपुर में हुए कन्हैयालाल हत्याकांड के संबंध में धीरेंद्र शास्त्री ने कहा, “मुझे खेद है, एक कन्हैयाल चालाकी से भाग गया।” कन्हैया अब हर घर में मौजूद हैं।
पंडित धीरेंद्र शास्त्री ने अपनी टिप्पणी में तीन बार कुम्भलगढ़ किले पर भगवा ध्वज लगाने का उल्लेख किया है। उन्होंने कहा, ‘हम किसी के मां-बाप से नहीं डरते।’ दिल के कमजोर ही डरते हैं। हम कुम्भलगढ़ किले पर ही भगवा ध्वज फहराकर इसका पालन करेंगे।

झंडे हटाने और भगवा झंडे लगाने की कोशिश में पांच गिरफ्तार

इस बीच, उदयपुर के केलवाड़ा इलाके में पांच लोगों को उस समय गिरफ्तार किया गया जब उन्होंने कुंभलगढ़ में एक धार्मिक स्थान पर झंडे हटाने और उनकी जगह भगवा झंडे लगाने की कोशिश की। केलवाड़ा थाना (राजसमंद) के थानाधिकारी मुकेश सोनी ने बताया कि आरोपियों को कुंभलगढ़ शहर के पास एक धार्मिक स्थल पर झंडे हटाने का प्रयास करते हुए पकड़ा गया।

बागेश्वर धाम के पंडित धीरेन्द्र कृष्ण शास्त्री (FIR against Dhirendra Krishna Shastri of Bageshwar Dham) के खिलाफ राजस्थान के उदयपुर में पुलिस ने एफआईआर दर्ज की है। पुलिस बागेश्वर बाबा के खिलाफ भड़काऊ भाषण देने के मामले में हाथीपोल थाने में मामला दर्ज किया है। बताया जा रहा है कि पुलिस ने मामले को स्वत: संज्ञान लेते हुए कथावाचक देवकी नंदन ठाकुर के खिलाफ भी मामला दर्ज किया है। 

उदयपुर में बागेश्वर धाम के पंडित धीरेंद्र कृष्ण शास्त्री के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर पांच युवकों को गिरफ्तार किया गया

उदयपुर के अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक चंद्रशील ठाकुर ने बताया कि उदयपुर के गांधी मैदान में बृहस्पतिवार को आयोजित एक ‘धर्म सभा’ कार्यक्रम के दौरान उनके कथित भड़काऊ भाषण को लेकर हाथीपोल थाने में मामला दर्ज किया गया है। पुलिस के मुताबिक धीरेन्द्र शास्त्री के संबोधन से शहर के लोगों की धार्मिक भावनाएं आहत हुई हैं। इसी कारण पुलिस ने मामला दर्ज किया है। 

हरे झंडों को भगवा में बदलो : कार्यक्रम में शास्त्री ने कथित तौर पर कहा था कि कुंभलगढ़ में 100 हरे झंडे हैं, जिन्हें भगवा से बदला जाना है। यह भगवा का देश है न कि ‘हरा’ का। उदयपुर पुलिस ने स्वत: संज्ञान लेते हुए धर्म के आधार पर द्वेष को बढ़ावा देने आरोप में शास्त्री के खिलाफ भारतीय दंड संहिता की धारा 153-ए के तहत मामला दर्ज किया।

बताया जा रहा है कि धीरेंद्र शास्त्री गुरुवार को उदयपुर में एक धर्मसभा को संबोधित करते मुस्लिम कट्‍टरपंथियों के हाथों मारे गए कन्हैया लाल टेलर हत्याकांड का भी उल्लेख किया। उन्होंने कहा कि एक कन्हैया भले ही धोखे से हमारे बीच से चला गया हो। लेकिन अब हर घर में कन्हैया होगा। उल्लेखनीय है कि भाजपा की निलंबित नेता नूपुर शर्मा के समर्थन में पोस्ट डालने के चलते उदयपुर में ही कट्‍टरपंथियों ने कन्हैया की गला रेत कर हत्या कर दी थी। 

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, शास्त्री ने कहा कि एक कन्हैया भले ही धोखे से हमारे बीच से चला गया हो। लेकिन, हर घर में कन्हैया होगा। इस दौरान उन्होंने राजस्थान और मेवाड़ की भी जमकर तारीफ की। उन्होंने कहा कि मेवाड़ ऐसी धरा है, जहां की माता-बहनें, भाई ही नहीं, यहां का घोड़ा चेतक भी वीर होता है।

उदयपुर में बागेश्वर धाम के पंडित धीरेंद्र कृष्ण शास्त्री के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर पांच युवकों को गिरफ्तार किया गया
उदयपुर में बागेश्वर धाम के पंडित धीरेंद्र कृष्ण शास्त्री के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर पांच युवकों को गिरफ्तार किया गया

इस बाबत एसपी विकास शर्मा ने बताया कि कुंभलगढ़ के किले पर लगे हरे झंडों की जगह भगवा झंडे लगाने की बात धीरेंद्र शास्त्री की ओर से कही गई थी। इसी भड़काऊ बयान पर मामला दर्ज किया गया है। इस मामले की एफआईआर संख्या 62/2023 है। एसपी ने बताया कि सभा के संबोधन के दौरन धीरेन्द्र शास्त्री के कई बाते ऐसी रखीं, जिससे शहर के लोगों की धार्मिक भावनाएं भड़की हैं। ऐसे में पुलिस ने उनके खिलाफ मामला दर्ज किया है। इस पूरे मामले की गहनता से जांच की जा रही है।

मध्य प्रदेश के छतरपुर जिले में बागेश्वर धाम के मुख्य पुजारी धीरेंद्र कृष्ण शास्त्री राज्य और देश के अन्य हिस्सों में काफी मशहूर हैं। आपको बता दें कि इस महीने की शुरुआत में, धीरेंद्र शास्त्री के भाई को कथित रूप से एक दलित परिवार को गालियां देने और रिवाल्वर लहराने के आरोप में गिरफ्तार किया गया था। घटना 11 फरवरी की है जब ‘बागेश्वर धाम सरकार’ का भाई एक सामूहिक विवाह स्थल पर पहुंचा और लोगों से गाली-गलौज की।

By Sunil Kumar Verma

Sunil Kumar Verma - पत्रकार और समाचार संपादक

Enable Notifications OK No thanks