मित्रता दिवस पर सनातन संस्कृति के ध्वज वाहक दो संत अमेरिका के न्यूजर्सी मेंमित्रता दिवस पर सनातन संस्कृति के ध्वज वाहक दो संत अमेरिका के न्यूजर्सी में

न्यूजर्सी, USA: भारतीय सनातन संस्कृति के ध्वजधारी प्रतिनिधि पद्मनाभ पीठाधीश्वर पूज्य सदगुरुदेव गोवा (सदगुरु ब्रह्मेशानंद स्वामी) और अहिंसा विश्व भारती के आदरणीय संस्थापक, आचार्य लोकेश मुनि जी (मुनि लोकेश) ने फ्रेंडशिप डे पर मिलकर एक साथ समय बिताया।

इस महत्वपूर्ण अवसर पर युगप्रवीर पूज्य सदगुरुदेव गोवा (Sadguru Brahmeshanand Acharya Swamiji) और सम्मानित अहिंसा विश्व भारती के संस्थापक, आचार्य लोकेश मुनि जी (मुनि लोकेश) ने न्यू जर्सी, यूएसए में मिलकर Friendship Day (मित्रता दिवस ) मुलाकात किया

मुलाकात न्यू जर्सी, यूएसए में, जहां दो प्रतिष्ठित आध्यात्मिक नेता एक साथ आए, और विभिन्न पृष्ठभूमियों और धर्मों से लोगों को एक साथ लाने के लिए मित्रता और एकता की भावना को बढ़ावा दिया।

पद्मनाभ पीठाधीश्वर पूज्य सदगुरुदेव गोवा, जिन्हें Sadguru Brahmeshanand Acharya Swamiji के रूप में भी जाना जाता हैं, अपने गहन ज्ञान और विचारों के लिए व्यापक पहचान हैं। उनके आध्यात्मिक मार्गदर्शन ने दुनिया भर के लाखों लोगों के जीवन को प्रभावित किया है, जिन्हें करुणा, प्रेम और आत्म-ज्ञान की जीवन-शैली के लिए प्रेरित किया है।

अहिंसा विश्व भारती के संस्थापक, आचार्य लोकेश मुनि जी, ने अहिंसा, अन्तर्धर्मी समन्वय, और वैश्विक शांति के संदेश को फैलाने में अपना जीवन समर्पित किया है। उनके निर्लज्ज प्रयासों के माध्यम से, उन्होंने विभिन्न संस्कृतियों और धर्मों के लोगों के बीच समझौते और सहयोग को प्रोत्साहित किया है।

हाल ही में गोवा पद्मनाभ पीठाधीश्वर ब्रह्मेशानंद जी महाराज ने अमेरिका की यात्रा की। उनके संबोधन के बाद उन्हें न्यू जर्सी में सम्मानित किया गया, जहां उन्हें विशेष आयोजनों में शामिल होने का सौभाग्य मिला।

पद्मनाभ पीठाधीश्वर पूज्य सदगुरुदेव गोवा (सदगुरु ब्रह्मेशानंद स्वामी) और आचार्य लोकेश मुनि जी (मुनि लोकेश) को उनके अमूल्य शिक्षाओं के लिए आभार व्यक्त किया। यह मुलाकात सभी मौजूदगानों के दिलों पर एक अविस्मरणीय प्रभाव छोड़ा, जिसने उन्हें इस अपने दैनिक जीवन में मित्रता और सांस्कृतिक समझ को आगे बढ़ाने के लिए प्रेरित किया।

By khabarhardin

Journalist & Chief News Editor

Enable Notifications OK No thanks