गोरखपुर : उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने महापर्व ‘शारदीय नवरात्रि’ के शुभारंभ के पवित्र अवसर पर आज श्री गोरखनाथ मंदिर परिसर स्थित श्री दुर्गा मंदिर में परंपरागत रूप से वैदिक मंत्रोच्चारण के मध्य विधि-विधान से कलश की स्थापना कर माँ दुर्गा से अखिल विश्व के कल्याण, चहुंओर शांति एवं समृद्धि की प्रार्थना की।



कलश स्थापना के बाद मुख्यमंत्री ने मां दुर्गा के चरणों में फूल, माला, अक्षत, नैवेद्य आदि अर्पित कर उनका आशीर्वाद लिया। उन्होंने कहा कि मां दुर्गा सच्चाई, न्याय, धर्म और भक्ति की शक्ति हैं। उनकी आराधना से जीवन में सुख-समृद्धि, शांति और कल्याण की प्राप्ति होती है।



मुख्यमंत्री ने कहा कि नवरात्रि का पर्व शक्ति की उपासना का पर्व है। इस दौरान मां दुर्गा के नौ स्वरूपों की पूजा की जाती है। नवरात्रि के नौ दिनों में मां दुर्गा के भक्तों को अपने आचरण में धर्म, सदाचार और आध्यात्मिकता को अपनाने का संकल्प लेना चाहिए।



मुख्यमंत्री ने की दुर्गा सप्तशती का पाठ

कलश स्थापना के बाद मुख्यमंत्री ने श्री गोरखनाथ मंदिर परिसर स्थित श्री दुर्गा मंदिर में दुर्गा सप्तशती का पाठ भी किया। उन्होंने कहा कि दुर्गा सप्तशती मां दुर्गा की महिमा का वर्णन करती है। इस पाठ को करने से मां दुर्गा की कृपा प्राप्त होती है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि नवरात्रि के नौ दिनों में दुर्गा सप्तशती का पाठ करने से मन को शांति और सुकून मिलता है। यह पाठ हमें अपने जीवन में सकारात्मकता और आध्यात्मिकता के मार्ग पर चलने की प्रेरणा देता है।

By khabarhardin

Journalist & Chief News Editor

Enable Notifications OK No thanks