राजस्थान: भैरोंसिंह शेखावत के दामाद का टिकट कटा, सांसद दीया कुमारी को क्यों बनाया प्रत्याशी?राजस्थान: भैरोंसिंह शेखावत के दामाद का टिकट कटा, सांसद दीया कुमारी को क्यों बनाया प्रत्याशी?

जयपुर की विद्याधर नगर सीट से राजकुमारी दीया कुमारी ने भारी मतों से जीत हासिल की है। उन्हें 1,13,932 वोट मिले, जबकि उनके निकटतम प्रतिद्वंद्वी कांग्रेस के महेंद्र सिंह को 42,040 वोट मिले। इस तरह, दीया कुमारी को 71,892 वोटों के अंतर से जीत हासिल हुई। यह राजस्थान विधानसभा चुनाव 2023 में सबसे बड़ी जीत है।

दीया कुमारी राजस्थान के सबसे प्रभावशाली राज परिवारों में से एक, मेवाड़ के राज परिवार से ताल्लुक रखती हैं। वह 2019 में राजसमंद से लोकसभा सदस्य भी चुनी गई थीं।

दीया कुमारी की जीत को कई कारणों से जिम्मेदार ठहराया जा रहा है। इनमें उनकी राज परिवार की पृष्ठभूमि, उनकी लोकप्रियता, और भाजपा की मजबूत स्थिति शामिल हैं।

दीया कुमारी की जीत से भाजपा को राजस्थान में अपनी स्थिति मजबूत करने में मदद मिलेगी।

जीत के बाद राजकुमारी दीया कुमारी ने कहा:

“यह जीत जनता का आशीर्वाद है। मैं जनता की उम्मीदों पर खरा उतरने का प्रयास करूंगी।”

उन्होंने कहा कि वह विद्याधर नगर सीट के विकास के लिए काम करेंगी। उन्होंने कहा कि वह क्षेत्र में शिक्षा, स्वास्थ्य, और रोजगार के अवसरों को बढ़ावा देने का काम करेंगी।

दीया कुमारी की जीत से भाजपा को फायदा

राजकुमारी दीया कुमारी की जीत से भाजपा को राजस्थान में फायदा होगा। दीया कुमारी एक लोकप्रिय नेता हैं और उनकी जीत से भाजपा को राज्य में अपनी स्थिति मजबूत करने में मदद मिलेगी। दीया कुमारी की जीत से भाजपा को यह भी संदेश मिलेगा कि राजस्थान में जनता भाजपा को पसंद कर रही है।

दीया कुमारी का राजनीतिक सफर

दीया कुमारी का जन्म 24 फरवरी, 1985 को मेवाड़ के राज परिवार में हुआ था। उनके पिता का नाम महाराणा भैरोसिंह मेवाड़ हैं और माता का नाम गायत्री देवी हैं। दीया कुमारी ने अपनी स्कूली शिक्षा जयपुर के मेयो कॉलेज से पूरी की। उन्होंने दिल्ली के लेडी श्रीराम कॉलेज से राजनीति विज्ञान में स्नातक की उपाधि प्राप्त की।

दीया कुमारी ने राजनीति में अपने सफर की शुरुआत 2014 में की थी। उन्होंने उस साल राजस्थान के राजसमंद से भाजपा के टिकट पर लोकसभा चुनाव लड़ा और जीत हासिल की। 2019 में, उन्होंने फिर से राजसमंद से लोकसभा चुनाव लड़ा और जीत हासिल की।

दीया कुमारी को भाजपा के युवा चेहरों में से एक माना जाता है। वह एक लोकप्रिय नेता हैं और उनके पास एक मजबूत जन आधार है।

दीया कुमारी राजस्थान के सबसे प्रभावशाली राज परिवारों में से एक, मेवाड़ के राज परिवार से ताल्लुक रखती हैं। वह 2019 में राजसमंद से लोकसभा सदस्य भी चुनी गई थीं।

दीया कुमारी की जीत को कई कारणों से जिम्मेदार ठहराया जा रहा है। इनमें उनकी राज परिवार की पृष्ठभूमि, उनकी लोकप्रियता, और भाजपा की मजबूत स्थिति शामिल हैं।

दीया कुमारी की जीत से भाजपा को राजस्थान में अपनी स्थिति मजबूत करने में मदद मिलेगी।

जीत के बाद दीया कुमारी ने कहा

जीत के बाद राजकुमारी दीया कुमारी ने कहा कि यह जीत जनता का आशीर्वाद है। उन्होंने कहा कि वह जनता की उम्मीदों पर खरा उतरने का प्रयास करेंगी।

उन्होंने कहा कि वह विद्याधर नगर सीट के विकास के लिए काम करेंगी। उन्होंने कहा कि वह क्षेत्र में शिक्षा, स्वास्थ्य, और रोजगार के अवसरों को बढ़ावा देने का काम करेंगी।

दीया कुमारी की जीत से भाजपा को फायदा

राजकुमारी दीया कुमारी की जीत से भाजपा को राजस्थान में फायदा होगा। दीया कुमारी एक लोकप्रिय नेता हैं और उनकी जीत से भाजपा को राज्य में अपनी स्थिति मजबूत करने में मदद मिलेगी।

दीया कुमारी की जीत से भाजपा को यह भी संदेश मिलेगा कि राजस्थान में जनता भाजपा को पसंद कर रही है।

राजस्थान विधानसभा चुनाव 2023 में दीया कुमारी की जीत का विश्लेषण

राजकुमारी दीया कुमारी की विद्याधर नगर सीट से भारी जीत राजस्थान विधानसभा चुनाव 2023 में एक महत्वपूर्ण घटना है। उनकी जीत से कई संकेत मिलते हैं।

सबसे पहले, यह संकेत देता है कि राजस्थान में भाजपा की स्थिति मजबूत है। दीया कुमारी एक लोकप्रिय नेता हैं, लेकिन उन्होंने कांग्रेस के कद्दावर नेता सीताराम अग्रवाल को भारी मतों से हराया है। यह भाजपा की बढ़ती लोकप्रियता का संकेत है।

दूसरा, यह संकेत देता है कि राजस्थान में राज परिवारों की अभी भी अच्छी खासी लोकप्रियता है। दीया कुमारी मेवाड़ के राज परिवार से ताल्लुक रखती हैं। राजस्थान में राज परिवारों का अभी भी एक महत्वपूर्ण प्रभाव है।

तीसरा, यह संकेत देता है कि राजस्थान में महिलाओं की राजनीतिक भागीदारी बढ़ रही है। दीया कुमारी राजस्थान में एक लोकप्रिय महिला नेता हैं। उनकी जीत से यह संकेत मिलता है कि राजस्थान में महिलाएं राजनीति में अधिक सक्रिय हो रही हैं।

कुल मिलाकर, राजकुमारी दीया कुमारी की विद्याधर नगर सीट से भारी जीत राजस्थान विधानसभा चुनाव 2023 में एक महत्वपूर्ण घटना है। यह भाजपा की बढ़ती लोकप्रियता, राज परिवारों की लोकप्रियता, और महिलाओं की बढ़ती राजनीतिक भागीदारी का संकेत देती है।

By khabarhardin

Journalist & Chief News Editor

Enable Notifications OK No thanks