जयपुर, 3 दिसंबर 2023 – राजस्थान विधानसभा चुनाव 2023 में जयपुर शहर की सिविल लाइंस विधानसभा सीट से कांग्रेस के दिग्गज नेता प्रताप सिंह खाचरियावास को हार का सामना करना पड़ा है। इस सीट से दो बार विधायक रहे खाचरियावास बीजेपी प्रत्याशी गोपाल शर्मा के सामने 20,000 वोटों से हार गए।

खाचरियावास की परंपरागत सीट

जयपुर शहर की सिविल लाइंस विधानसभा सीट कांग्रेस नेता प्रताप सिंह खाचरियावास की परंपरागत सीट है। वे यहां से पहली बार 2008 विधायक चुने गए थे। लेकिन, साल 2013 में मोदी लहर के चलते चुनाव हार गए थे। हालांकि, साल 2018 के विधानसभा चुनाव में सिविल लाइंस विधानसभा सीट से कांग्रेस के प्रताप सिंह खाचरियावास ने 18,078 वोटों से जीत हासिल की थी।

इस बार खाचरियावास को हार

लेकिन, इस बार खाचरियावास को हार का सामना करना पड़ा है। चुनाव आयोग के मुताबिक, सिविल लाइंस विधानसभा सीट से भाजपा प्रत्याशी गोपाल शर्मा को 66,878 वोट मिले, जबकि कांग्रेस प्रत्याशी प्रताप सिंह खाचरियावास को 46,878 वोट मिले।

कौन हैं गोपाल शर्मा?

गोपाल शर्मा वरिष्ठ पत्रकार होने के साथ-साथ एक दैनिक अखबार के मालिक और संपादक भी हैं। वे पिछले काफी समय से संघ से जुड़े हुए हैं और पीएम मोदी की विचारधारा से प्रभावित हैं। यही वजह है कि वे काफी समय से बीजेपी के लिए काम कर रहे थे।

भाजपा ने इस बार नए चेहरे पर दांव खेला

भाजपा ने अरुण चतुर्वेदी के बजाय इस बार यहां नए चेहरे पर दांव खेला। गोपाल शर्मा सांगानेर से टिकट मांग रहे थे, लेकिन पार्टी ने वहां से टिकट न देकर सिविल लाइंस से मौका दिया और वे बीजेपी के विश्वास पर खरा उतरे।

हार के बाद खाचरियावास ने क्या कहा?

हार के बाद प्रताप सिंह खाचरियावास ने कहा कि जनता ने अपना फैसला सुनाया है। मैं जनता के फैसले का सम्मान करता हूं। मैं जनता का धन्यवाद करता हूं कि उन्होंने मुझे दो बार विधायक बनाया।

गोपाल शर्मा ने क्या कहा?

जीत के बाद गोपाल शर्मा ने कहा कि यह जीत जनता की जीत है। मैं जनता का धन्यवाद करता हूं कि उन्होंने मुझे अपना विश्वास दिया। मैं जनता की उम्मीदों पर खरा उतरने की पूरी कोशिश करूंगा।

By khabarhardin

Journalist & Chief News Editor

Enable Notifications OK No thanks