जयपुर : श्री पंचखण्ड पीठ के पूर्व आचार्य ब्रह्मलीन स्वामी धर्मेंद्र जी महाराज की स्मृति समारोह के उपलक्ष्य में आयोजित अखिल भारतीय संत सम्मेलन में, श्री दत्त पद्मनाभ पीठ के पीठाधीश्वर सद्गुरु ब्रह्मेशानंदाचार्य स्वामीजी को “राष्ट्रीय गौरव पावन सन्त सम्मान” से सम्मानित किया गया।

इस अवसर पर पूज्य गोविन्ददेवगिरिजी महाराजश्रीं और विश्व हिन्दू परिषद के अध्यक्ष अलोक कुमार जी की विशेष उपस्थिति में सम्मानित किया गया।

सम्मान समारोह में मंच पर विभिन्न संत और धार्मिक गुरुजनों के साथ-साथ श्री पंचखण्ड पीठाधीश्वर स्वामी सोमेन्द्र जी महाराज, पूज्य कमलनयनदासजी महाराज, पूज्य रामरिछपालदासजी महाराज, पूज्य राघवाचार्यजी महाराज, पूज्य राजराजेश्वर गुरुजी (लंडन), पूज्य स्वात्मानंदजी महाराज (अमेरिका), स्वामी उमेश योगीजी (स्पेन) और स्वामी ब्रह्मानंद सरस्वतीजी (वॅाशिंगटन), एड. ब्राह्मीदेवीजी आदि महान व्यक्तित्व उपस्थित थे।

सम्मान स्वीकार करते हुए, सद्गुरु ब्रह्मेशानंदाचार्य स्वामीजी ने कहा, “यह सम्मान मेरे लिए नहीं, बल्कि उन सभी संतों और महापुरुषों के लिए है जिन्होंने अपना जीवन समाज की सेवा और आध्यात्मिक उन्नति के लिए समर्पित कर दिया है।”

उन्होंने कहा, “आज के समय में, जब समाज में अनेक तरह की चुनौतियों का सामना करना पड़ रहा है, तब संतों का दायित्व है कि वे लोगों को सद्भावना, प्रेम और भाईचारे का संदेश दें।”

सद्गुरु ब्रह्मेशानंदाचार्य स्वामीजी ने कहा, “हमें सभी को मिलकर एक ऐसा समाज बनाने का प्रयास करना चाहिए जो न्यायपूर्ण, समतापूर्ण और आध्यात्मिक रूप से उन्नत हो।”

इस अवसर पर पूज्य गोविन्ददेवगिरिजी महाराजश्रीं ने कहा, “सद्गुरु ब्रह्मेशानंदाचार्य स्वामीजी एक महान संत और आध्यात्मिक गुरु हैं। वे समाज के लिए प्रेरणा का स्रोत हैं।”

विश्व हिन्दू परिषद के अध्यक्ष अलोक कुमार जी ने कहा, “सद्गुरु ब्रह्मेशानंदाचार्य स्वामीजी ने राष्ट्र और समाज के लिए अनेक महत्वपूर्ण कार्य किए हैं। वे एक सच्चे देशभक्त और समाजसेवी हैं।”

यह सम्मान सद्गुरु ब्रह्मेशानंदाचार्य स्वामीजी के जीवन और कार्यों के लिए एक महत्वपूर्ण सम्मान है।

By khabarhardin

Journalist & Chief News Editor

Enable Notifications OK No thanks