नई दिल्ली, 25 अगस्त 2023 : चंद्रयान-3 मिशन की सफलता के समय, कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह ने एक बड़ा दावा किया है। उन्होंने दावा किया है कि इसरो के वैज्ञानिकों को पिछले 17 महीनों से सैलरी नहीं मिली है।

दिग्विजय सिंह ने कहा, “हमें गर्व है कि इसरो वैज्ञानिक चंद्रयान की कामयाब लैंडिंग की कोशिश कर रहे हैं। हम ईश्वर से उनकी सफलता के लिए दुआ करते हैं। लेकिन अखबारों में खबरें हैं कि इसरो के वैज्ञानिकों को 17 महीने से वेतन नहीं मिला है। प्रधानमंत्री को इस पर भी ध्यान देना चाहिए।”

दिग्विजय सिंह ने अपने दावे के समर्थन में कहा कि उन्हें एक अखबार की रिपोर्ट मिली है, जिसमें इस दावे का जिक्र है। हालांकि, उन्होंने रिपोर्ट का हवाला नहीं दिया।

इस दावे के बाद, बीजेपी आईटी सेल के हेड अमित मालवीय ने पलटवार किया है। उन्होंने दिग्विजय सिंह पर कांग्रेस के वैज्ञानिकों को बदनाम करने का आरोप लगाया है।

मालवीय ने कहा, “घृणित दिग्विजय सिंह ने उस दिन #FakeNews फैलाई है जब इसरो भारत को गौरवान्वित करने के लिए पूरी तरह तैयार है। कांग्रेस प्रधानमंत्री मोदी से नफरत करती है, लेकिन वह मजबूत होते भारत से और भी ज्यादा नफरत करती है। लेकिन आत्मविश्वास से भरा भारत कभी भी कांग्रेस को वोट नहीं देगा।”

प्रेस इंफॉर्मेशन ब्यूरो (PIB) ने भी दिग्विजय सिंह के दावे का खंडन किया है। PIB ने कहा है कि इसरो के वैज्ञानिकों को हर महीने के आखिर में सैलरी मिल जाती है।

यह अभी स्पष्ट नहीं है कि दिग्विजय सिंह के दावे में कितनी सच्चाई है। हालांकि, इस दावे ने सियासी बवाल मचाने का काम किया है।

By khabarhardin

Journalist & Chief News Editor

Enable Notifications OK No thanks