लेखक: सुनील दत्त गोयल

सुनील दत्त गोयल, जिन्हें उनके विविध लेखन शैली और विचारधारा के लिए पहचाना जाता है। उनका शेख़ी लेखन शैली और गहन विदेशी ज्ञान से भरा विचार उन्हें विशेष बनाता है।गोयल ने अपने सार्वजनिक प्रकाशनों में वित्त, सामाजिक और व्यापारिक विषयों पर मजबूत ज्ञान प्रदान किया है। उनके विचारों को पढ़कर, लोग वित्तीय नियोजन, सामाजिक समस्याओं के समाधान, और व्यापार के क्षेत्र में नई रणनीतियों को समझने में सक्षम हो जाते हैं।उनके संपादकीय लेख, समाचार लेखन और समीक्षात्मक लेखन की क्षमता उन्हें पूरे देशभर में प्रशंसा के लिए लायी है। उनके निबंधों में विचारशीलता और ताक़त दिखती है, जिससे पाठक उनके लेखन से प्रभावित होते हैं और उनके सोच के पीछे के कारणों को समझते हैं।सुनील दत्त गोयल के लेखन के माध्यम से वे समाज में सकारात्मक परिवर्तन लाने के लिए प्रेरित करते हैं और समृद्धि और सामर्थ्य के पथ पर मार्गदर्शन करते हैं। उनके लेखन से लोगों को अधिक जागरूक और अनुभवशाली बनाने का यह संकेत मिलता है

Business & Financial Highlights : ज़ोमैटो में लाभ के बाद उछाल, NBFC फाइनेंस की आईपीओ की सदस्यता बढ़ी

Business & Financial Highlights : वित्तीय और व्यापारिक क्षेत्रों में भारतीय व्यवसाय परिदृश्य में महत्वपूर्ण विकास की घटनाओं का संक्षेप…

बिजनेस और फाइनेंस राउंडअप: हाल की महत्वपूर्ण घटनाएँ

भारतीय बिजनेस और फाइनेंस ने कई महत्वपूर्ण घटनाओं की सूचनाओं के साथ हलचल से भरा है, जो विभिन्न कंपनियों द्वारा…

जुलाई में GST संग्रह बढ़कर 165,000 करोड़ रुपये हो गया, ऑटोमोबाइल सेक्टर ने रिकॉर्ड राजस्व बढ़ाया

जुलाई 2023 के लिए वस्तु एवं सेवा कर (GST) संग्रह में उल्लेखनीय वृद्धि देखी गई है, जो अपेक्षाओं से अधिक…

आर्थिक उतार-चढ़ाव के दौर में: आज के बाजार की पूर्वानुमानित स्थिति और रुझान

Market Prediction : चूँकि निवेशक और व्यवसाय वित्तीय बाज़ारों पर बारीकी से नज़र रखते हैं, आज कई महत्वपूर्ण घटनाक्रम सामने…

Enable Notifications OK No thanks