London : भारतीय सीनियर एडवोकेट Harish Salve की शादी में एक अनोखा मोड़ आया है, जिसने तमाम सवाल उठा दिए हैं। Harish Salve की शादी में पहुंचा भारत का भगोड़ा Lalit Modi

Lalit Modi को भारत सरकार ने भारत में उसके खिलाफ दर्ज मुकदमों में पूछताछ करने की कोशिश की है, और उसके खिलाफ कानूनी कदम उठाने का आलम है। लेकिन अब वो Harish Salve की शादी में खुल्लेआम घूम रहा है और पार्टियां एटेंड कर रहा है। हाल ही में उसे Harish Salve की शादी के प्रोग्राम में लंदन में देखा गया है।

क्या बड़ी हस्तियों को अपराध से बचाना ही बड़े वकीलों का काम है?

अब यह कहा जा रहा है कि जिसे भारत सरकार यहां ट्रायल चलाने के लिए नहीं ला सकी, उसे Harish Salve ले आया। Lalit Modi जाम छलकाते हुए नजर आ रहा है। इस पार्टी में नीता अंबानी, लक्ष्मी मित्तल समेत बड़ी-बड़ी हस्तियां पहुंची थी।

क्या यह वाकई वकीलों का काम है कि वे अपराधी को बचाएं?

हमें यह भी जानने की आवश्यकता है कि जब पुलिस अपराधी की तलाश में होती है और वह अपने वकील से संपर्क कर रहा होता है, तो क्या वकील की यह जिम्मेदारी नहीं बनती कि वह इस मामले को संबंधित एजेंसी को सूचित करे? यदि वकील को पता हो कि उसका मामला गलत है, तो क्या ऐसे में वकील को उस अपराधी से दूरी बनानी चाहिए?

अपराधी अपराधी होता है, चाहे वो बड़ा हो या छोटा। बचाव पक्ष को भी अपराधियों का बचाव करने का अधिकार है, लेकिन सही को गलत सिद्ध करने का नहीं। इस संदर्भ में, पुलिस की जिम्मेदारी अपराधी की तलाश में होती है, और वकील की जिम्मेदारी यह नहीं होती कि वह अपराधी के साथ संपर्क करे।

इस घटना के बारे में सरकार और कानूनी अधिकारियों के दृष्टिकोण से नजरअंदाज हो सकते हैं, लेकिन यह विवाद और सवाल उठाता है कि बड़े वकीलों के कर्मचारी कैसे अपराधियों से संपर्क कर सकते हैं और क्या इसका कोई नियम होना चाहिए।

कौन है हरीश साल्वे?

हरीश साल्वे (Harish Salve) एक प्रमुख भारतीय वकील है और उन्हें भारतीय न्यायिक प्रणाली में अपने उच्च कौशल और वकालत के लिए प्रसिद्ध किया गया है। वह 22 जून 1955 को नर्सिंघपुर, मध्यप्रदेश, भारत में पैदा हुए थे। हरिश साल्वे का वकालत क्षेत्र बहुत विस्तारित है और वह विभिन्न प्रकार की मामलों में काम करते हैं, जैसे कि संविधानिक मामले, वित्तीय मामले, और अंतरराष्ट्रीय विवाद।
हरिश साल्वे ने अपनी करियर में कई महत्वपूर्ण मुकदमों का प्रतिष्ठित वकील के रूप में दायर किए हैं। उन्होंने भारत सरकार की ओर से अंतरराष्ट्रीय मुकदमों में भी काम किया है और भारत की ओर से विदेश में कई महत्वपूर्ण मुकदमों का प्रतिनिधित्व किया है।
हरिश साल्वे का एक महत्वपूर्ण भूमिका भी था जब वह भारतीय सरकार के सोलिसिटर जनरल थे, जिसमें वे सरकार के फैसलों का संरक्षण करते थे।
वह अपने उच्च ज्ञान और न्यायिक दृष्टिकोण के लिए मशहूर हैं और उनके वकालती कौशल की सराहना बड़े-बड़े मुकदमों में होती है। वह भारतीय न्यायिक प्रणाली के एक अग्रणी वकील हैं और उनके काम का स्थायी और प्रमुख स्थान है।

By khabarhardin

Journalist & Chief News Editor

Enable Notifications OK No thanks