आंध्र प्रदेश में सौतेले पिता ने सेल्फी लेने के बहाने अपनी 13 साल की सौतेली बेटी और परिवार को गोदावरी नदी में धक्का दिया। खुशनसीब रही बेटी जिसने खुद को पुल के एक केबल पर लटका कर अपनी जान बचा ली।

घटना गुंटूर जिले की है, जहां एक आदमी ने अपनी सौतेली बेटी की हत्या करने का ठोस षड्यंत्र रचा। रविवार की सुबह उसने सुबह सुबह अपने परिवार को नदी के किनारे ले जाकर उन्हें धक्का दे दिया। उसकी पत्नी और एक साल की बेटी तुरंत नदी में डूब गईं, लेकिन खुशकिस्मत रही सौतेली बेटी ने पुल के एक केबल पर लटककर अपनी जान बचा ली।

घटना के दौरान बेटी ने एक हाथ से अपने फोन से पुलिस को 100 नंबर पर कॉल किया। पुलिस को मिली सूचना के बाद उन्होंने तुरंत कार्रवाई की और पुलिस और हाईवे परिवहन टीमों की मदद से बच्ची को बचा लिया। बेटी को सुरक्षित बाहर निकाला गया।

इस वाकये को 6 अगस्त को सामने आया। बताया जा रहा है कि इस दिन सुबह 3.30 बजे लड़की ने डायल 100 पर कॉल किया था। पुलिस के मुताबिक लड़की की पहचान लक्ष्मी कीर्तना है, जो कि अपनी मां के साथ रह रही थी।

बेटियों से छुटकारा पाने के लिए दिया धक्का

खुलासा हुआ है कि गुंटूर जिले में एक शख्स ने अपनी सौतेली बेटी से छुटकारा पाने के लिएउसे सुबह सुबह गोदावरी नदी में ले जाकर धक्का दे दिया। उस शख्स की पहचान उलवा सुरेश के तौर पर हुई है। बताया जा रहा है कि उसकी 13 साल की सौतेली बेटी कीर्तना से छुटकारा पाने के लिए रविवार की सुबह ले जाकर गोदावरी नदी में धक्का दे दिया था। खबर तो ये भी है कि सुरेश ने अपनी पत्नी सुहासनी और एक साल की बेटी जर्सी को भी नदी में धकेल दिया था। सुहासिनी और जर्सी गोदावरी नदी में लापता हो गईं लेकिन कीर्तना इस बीच पुल के बगल में एक केबल से लटक गई थी। 

केबल से लटककर बचाई जान

बताया जा रहा है कि कीर्तना ने केबल को कस कर पकड़ लिया और फिर एक हाथ से अपने फोन से उसने 100 नंबर डायल कर दिया। उस बच्ची की बात को सुनते ही पुलिस ने फौरन हरकत की और मौके पर पहुँचकर उस पुल के केबल से लटकी बच्ची को बचा लिया। ये वाकया 6 अगस्त का बताया जा रहा है। पुलिस ने बताया कि रविवार की सुबह करीब 3.30 बजे के आस पास लड़की ने DAIL 100 पर कॉल किया था। 

पुलिस को किया था बच्ची ने ही फोन

पुलिस के मुताबिक लड़की ने बताया कि उसे उसके पिता ने धक्का दिया था लेकिन उसके हाथ में इत्तेफाक से पुल के नीचे का प्लास्टिक का पाइप आ गया और उसने उसे पकड़ लिया जिसकी वजह से वो वहीं लटक गई। जबकि उसके पिता सुरेश ने उसकी मां और छोटी बहन को भी नदी में धक्का दे दिया और दोनों पानी में गिरकर लापता हो गईं।  बकौल पुलिस सूचना मिलते ही रावुलापालेम पुलिस  ने तुरंत कार्रवाई की और रावुलापालेम एसएसआई अपने कर्मचारियों को लेकर सुबह करीब 4 बजे उसी जगह पहुँच गए जहां पर लड़की ने खुद को लटका हुआ बताया था। पुलिस के मुताबिक लड़की बेहद खतरनाक हालत में पुल की पाइपलाइन में लटकी हुई थी। 

सेल्फी लेने के बहाने उतारा पुल पर

पुलिस ने लटकी हुई लड़की को हिम्मत दी और पुलिस के कर्मियों के साथ साथ हाईवे मोबाइल कर्मियों के साथ मिलकर लड़की को बचाया। लड़की को सुरक्षित निकालने के बाद उससे जो जानकारी मिली उसके मुताबिक लड़की का नाम लक्ष्मी कीर्तना है। वो अपनी मां के साथ रह रही थी। उस रात उसका पिता पूरे परिवार को लेकर राजमुंदरी ले जाने के लिए निकला और जब वो लोग कार से रावुलापलेम ब्रिज से गुजर रहे थे तभी सेल्फी लेने के लिए सुरेश ने मां और बेटियों को नीचे उतारा और फिर बारी बारी से तीनों के धक्का दे दिया। लेकिन इत्तेफाक से कीर्तना वहीं पाइप के सहारे केबल पकड़कर लटक गई। जबकि उसकी मां और बहन पानी में गिर गईं और बह गईं। 

नदी में मां और बेटी की तलाश

लड़की से मिली सूचना के बाद पुलिस ने दो टीमें तैयार की और नाव के सहारे गोदावरी के बढ़े पानी में दोनों मां बेटी की तलाश शुरू कर दी। बताया जा रहा है कि आरोपी सुरेश भी फरार है। पुलिस उसे पकड़ने के लिए टीमों को अलग अलग दिशाओं में रवाना कर रही है। 

By khabarhardin

Journalist & Chief News Editor

Enable Notifications OK No thanks