राजस्थानी फोक कलाकार निरमा चौधरी के हुस्न के दीवाने हुए अजीत बैसला, और बोले "गोरी म्हाने जान सु प्यारी लागे"राजस्थानी फोक कलाकार निरमा चौधरी के हुस्न के दीवाने हुए अजीत बैसला, और बोले "गोरी म्हाने जान सु प्यारी लागे"

जयपुर : राजस्थान के मशहूर फोक कलाकार, निरमा चौधरी के प्यार के दीवाने बने अजीत बैसला, ने हाल ही में अपने नए गाने “गोरी म्हाने जान सु प्यारी लागे” के साथ इंटरटेंमेंट की दुनिया में कदम रखा। इस गाने में अजीत बैसला ने निरमा चौधरी के साथ अपनी एक्टिंग कौशल का परिचय दिया है।

राजस्थानी फोक कलाकार निरमा चौधरी के हुस्न के दीवाने हुए अजीत बैसला, और बोले "गोरी म्हाने जान सु प्यारी लागे"
राजस्थानी फोक कलाकार निरमा चौधरी के हुस्न के दीवाने हुए अजीत बैसला, और बोले “गोरी म्हाने जान सु प्यारी लागे”

“गोरी म्हाने जान सु प्यारी लागे” नामक गाना तेजी से वायरल हो रहा है और दर्शकों के बीच में काफी पसंद किया जा रहा है। इस गाने के बोल और संवाद राजस्थानी भाषा में हैं, जो इसे विशेष बनाता है। गाने की सुंदर म्यूजिक और मधुर गायन ने लोगों के दिलों में छाया हुआ है।

“गोरी म्हाने जान सु प्यारी लागे” गाने के बोल कोमल शर्मा द्वारा लिखे गए हैं, जबकि संगीत कृष्ण सनवारिया द्वारा दिया गया है। इस गाने के वीडियो के निर्देशक मुकेश सैनी हैं। इस गाने को म्यूजिक लेबल “Bainsla Music” द्वारा प्रकाशित किया गया है।

गाने में निरमा चौधरी और अजीत बैसला के बीच की केमेस्ट्री का जादू दर्शकों को मोहित कर रहा है। यह गाना राजस्थानी एंटरटेमेंट के नायक-नायिकों के साथ किये जाने वाले प्यार की कहानियों को याद दिलाता है।

अजीत बैसला ने इस गाने के साथ अपने एक्टिंग कौशल का परिचय दिया है और वे अब म्यूजिक इंडस्ट्री में अपना नाम बना रहे हैं। “गोरी म्हाने जान सु प्यारी लागे” गाने के साथ ही वे निरमा चौधरी के साथ एक नए म्यूजिक करियर की शुरुआत कर चुके हैं।

इस गाने के साथ, राजस्थान की संस्कृति और फोक कला का एक नया पहलु दर्शाने वाले अजीत बैसला और निरमा चौधरी ने अभिनय किया है और यह गाना खूब पसंद किया जा है।

इस गाने के तेजी से बढ़ते पॉप्युलैरिटी के साथ ही, अजीत बैसला और निरमा चौधरी के फैंस किसी नए एक्टिंग जोड़ी के साथ जोड़ने के लिए बेताब हैं और वे आगे भी और गानों में एक साथ काम करने की मांग कर रहे है

गोरी म्हाने जान सु प्यारी लागे गाने का साफ संदेश है कि प्यार और संवाद किसी भी भाषा में सुनहरा होता है और यह गाना इस मान्यता को प्रमोट कर रहा है। आगे आने वाले समय में, यह गाना और अजीत बैसला और निरमा चौधरी की तारीफों का केंद्र बनने के आसार हैं

By ब्रजेश मेहर

बृजेश मेहर एक अनुभवी पत्रकार और P.R.O. हैं जिनका भोजपुरी सिनेमा पर विशेष ध्यान है। मनोरंजन उद्योग में कई वर्षों के करियर के साथ, ब्रजेश ने भोजपुरी फिल्मों की दुनिया में खुद को एक जानकार और सम्मानित आवाज के रूप में स्थापित किया है।एक पत्रकार के रूप में, ब्रजेश ने भोजपुरी सिनेमा से संबंधित विषयों की एक विस्तृत श्रृंखला को कवर किया है, जिसमें अभिनेताओं और निर्देशकों के साक्षात्कार, बॉक्स ऑफिस के रुझानों का विश्लेषण और नवीनतम रिलीज़ की समीक्षा शामिल है। उन्होंने उद्योग में कई प्रमुख प्रकाशनों में योगदान दिया है और अपनी व्यावहारिक और सूचनात्मक रिपोर्टिंग के लिए एक प्रतिष्ठा बनाई है।

Enable Notifications OK No thanks