जैन आचार्य लोकेशजीजैन आचार्य लोकेशजी

नई दिल्ली : राष्ट्रपति भवन में बह्नकुमारी परिवार के ओर से आयोजित सर्वधर्म कार्यक्रम ने एक महत्वपूर्ण संदेश दिया – “सबका मालिक एक.” इस कार्यक्रम में विभिन्न धर्मों के प्रमुख धार्मिक गुरुओं ने मिलकर धर्म, एकता, शांति, और सद्भाव के महत्व को बताया.

धर्म के प्रमुख आचार्य, जैन आचार्य लोकेशजी ने वसुधैव कुटुंबकम् की विचारधारा की महत्वपूर्ण बात की और यह कहा कि इसका पालन करने से विश्व के युद्धों का समाधान संभव है। वे सर्वधर्म सद्भाव को भारतीय संस्कृति की मूल विशेषता मानते हैं।

जैन आचार्य लोकेशजी
जैन आचार्य लोकेशजी

बह्नकुमारी परिवार के ओर से राष्ट्रपति भवन में “सबका मालिक एक” कार्यक्रम

ब्रह्मकुमारी बहिन जयन्ती ने कहा कि “सबका मालिक एक” सभी धर्मों में समान रूप से स्वीकार किया गया है, और यह भाव किसी भी धर्म के नाम पर हिंसा और असहिष्णुता के खिलाफ है।

सिक्ख धर्म के अल्पसंख्यक आयोग के अध्यक्ष इक़बाल सिंह ने धर्म का महत्व बताते हुए कहा कि धर्म हमें जोड़ना सिखाता है, तोड़ना नहीं, और धर्म के क्षेत्र में हिंसा, घृणा, भय और नफरत का कोई स्थान नहीं हो सकता.

हिन्दू धर्म के महामण्डलेश्वर स्वामी धर्मदेवजी ने भारतीय संस्कृति के महत्व को बताते हुए कहा कि यही सोच सदीओं से हमारे देश को एकत्र रखने की शक्ति देती है.

बौद्ध भिक्षु संघसेना ने कहा कि हम सभी उसी एक मालिक की बगिया के फूल हैं जो अलग-अलग रंग और खुशबू से परिपूर्ण हैं, और यह विविधता उस बगीचे को और खूबसूरत बनाती है.

यहुदी धर्म की ओर से आइजक मालेकर ने कहा कि “सबका मालिक एक है’’, हम अपने अस्तित्व की तरह दूसरे के अस्तित्व को स्वीकार करते हैं,अपने विचार की तरह दूसरों के विचारों का आदर करते हैं ये भाव सामाजिक समरसता को बढाने का सशक्त माध्यम है।

इस्लाम धर्म की ओर से सलीम इंजीनियर, ईसाई धर्म की ओर से जेसी परमपिल, बहाई धर्म की ओर से ए के मर्चेंट, रामाकृष्ण मिशन की ओर से स्वामी सर्वालोकानन्दजी, आस्ट्रेलिया से बीके चार्लेस हंग ने अपने विचार व्यक्त किए।
ब्रह्माकुमारी आशा दीदी ने स्वागत भाषण दिया। ब्रह्माकुमारी हुसैन दीदी ने कार्यक्रम का संचालन किया। पण्डित ब्रजेश मिश्रा के गीत से कार्यक्रम का शुभारंभ हुआ।

By ब्रजेश मेहर

बृजेश मेहर एक अनुभवी पत्रकार और P.R.O. हैं जिनका भोजपुरी सिनेमा पर विशेष ध्यान है। मनोरंजन उद्योग में कई वर्षों के करियर के साथ, ब्रजेश ने भोजपुरी फिल्मों की दुनिया में खुद को एक जानकार और सम्मानित आवाज के रूप में स्थापित किया है।एक पत्रकार के रूप में, ब्रजेश ने भोजपुरी सिनेमा से संबंधित विषयों की एक विस्तृत श्रृंखला को कवर किया है, जिसमें अभिनेताओं और निर्देशकों के साक्षात्कार, बॉक्स ऑफिस के रुझानों का विश्लेषण और नवीनतम रिलीज़ की समीक्षा शामिल है। उन्होंने उद्योग में कई प्रमुख प्रकाशनों में योगदान दिया है और अपनी व्यावहारिक और सूचनात्मक रिपोर्टिंग के लिए एक प्रतिष्ठा बनाई है।