जयपुर, 14 अक्टूबर 2023: राजस्थान में विधानसभा चुनावों में एक बार कांग्रेस और एक बार भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) जीतती आई है। पिछले 20 वर्षों में, राजस्थान में दो बार कांग्रेस और दो बार भाजपा की सरकार रही है।

2003 में, भाजपा ने पहली बार राजस्थान में सरकार बनाई। भाजपा ने 125 सीटें जीतीं, जबकि कांग्रेस ने 55 सीटें जीतीं। भाजपा के वसुंधरा राजे ने मुख्यमंत्री के रूप में शपथ ली।

2008 में, कांग्रेस ने भाजपा को हराया और 107 सीटें जीतीं। कांग्रेस के अशोक गहलोत ने मुख्यमंत्री के रूप में शपथ ली।

2013 में, भाजपा ने कांग्रेस को हराया और 163 सीटें जीतीं। भाजपा के वसुंधरा राजे ने दूसरी बार मुख्यमंत्री के रूप में शपथ ली।

2018 में, कांग्रेस ने भाजपा को हराया और 100 सीटें जीतीं। कांग्रेस के अशोक गहलोत ने तीसरी बार मुख्यमंत्री के रूप में शपथ ली।

2023 में, राजस्थान में विधानसभा चुनाव होने हैं। चुनाव 25 नवंबर को होंगे और मतगणना 3 दिसंबर को होगी।

राजनीतिक विश्लेषकों का कहना है कि राजस्थान में एक बार कांग्रेस और एक बार भाजपा जीतती आई है। इसका कारण यह है कि राजस्थान में कोई एक पार्टी मजबूत नहीं है। दोनों पार्टियों के बीच मतदाताओं का समर्थन लगभग बराबर है।

राजनीतिक विश्लेषकों का यह भी कहना है कि राजस्थान में सरकार बनाने वाली पार्टी का फैसला मतदाता के मूड पर निर्भर करता है। यदि मतदाता सरकार से खुश हैं, तो वे उसी पार्टी को फिर से चुनेंगे। यदि मतदाता सरकार से नाखुश हैं, तो वे दूसरी पार्टी को चुनेंगे।

2023 के विधानसभा चुनावों में यह देखना दिलचस्प होगा कि कौन सी पार्टी जीतती है।

By khabarhardin

Journalist & Chief News Editor

Enable Notifications OK No thanks