Cyber CrimeCyber Crime

Cyber Crime : मुंबई में एक महिला के साथ 4.56 करोड़ रुपये की साइबर धोखाधड़ी का मामला सामने आया है। हालांकि, मुंबई साइबर क्राइम पुलिस ने 48 घंटे के अंदर त्वरित कार्रवाई करते हुए 3.80 करोड़ रुपये पीड़ित को वापस दिलवा दिए हैं।

पीड़ित महिला इंस्टाग्राम पर शेयर बाजार में ट्रेडिंग के लिए पैसे निवेश करने का एक विज्ञापन देख रही थी। विज्ञापन पर क्लिक करने पर उसे एक अन्य प्रोफ़ाइल/अकाउंट पर रीडायरेक्ट कर दिया गया, जहां उसे ‘डमी/धोखाधड़ी’ सदस्यों ने अच्छे रिटर्न का आश्वासन दिया। महिला ने कुल मिलाकर 4.56 करोड़ रुपये का निवेश किया और ऐप पर अपना लाभ देखने में सक्षम थी।

लेकिन, जब वह राशि निकालने की कोशिश की तो उसे एहसास हुआ कि उसे धोखा दिया गया है।

पीड़िता ने तुरंत 1930 साइबर हेल्पलाइन पर रिपोर्ट की और बीकेसी साइबर पुलिस स्टेशन से संपर्क किया।

साइबर क्राइम पुलिस ने त्वरित कार्रवाई करते हुए आरोपी का बैंक खाता फ्रीज कर दिया और 3.80 करोड़ रुपये पीड़ित को वापस दिलवा दिए।

साइबर क्राइम पुलिस के डीसी डॉ. डी. स्वामी ने बताया कि आरोपी ने 26 बैंकों के 71 बैंक खातों से 171 बार ट्रांजैक्शन किया है। उन्होंने कहा कि साइबर अपराध के ऐसे मामलों को बिना किसी देरी के जल्द से जल्द रिपोर्ट किया जाना चाहिए। इससे जालसाजों के बैंक खाते फ्रीज करने के लिए पर्याप्त समय मिल जाता है।

इस मामले में ठग 70 से 80 लाख रुपये पहले ही निकाल चुके थे। पुलिस के मुताबिक, पैसे अहमदाबाद, नवी मुंबई और दुबई से निकाले गए हैं। महिला ने 4 से 6 जनवरी के बीच पैसे निवेश किए थे और उन्हें धोखाधड़ी का एहसास 7 जनवरी को हुआ।

यह घटना साइबर अपराधों के बढ़ते खतरे को उजागर करती है। लोगों को साइबर अपराधों के बारे में जागरूक होना चाहिए और किसी भी तरह के निवेश करने से पहले सावधानी बरतनी चाहिए।

By khabarhardin

Journalist & Chief News Editor

Enable Notifications OK No thanks