स्मार्टफोन योजना : एक महत्वपूर्ण स्मार्टफोन योजना के तहत, राजस्थान के दौसा जिले के लालसोट उपखंड मुख्यालय में स्मार्टफोन वितरण की प्रक्रिया के दौरान एक महिला और बालिकाएं ने मोबाइल फोन प्राप्त करने के लिए हंगामा किया है। यह स्मार्टफोन योजना छात्राओं को तकनीकी साधनों की आवश्यकता पूरी करने का मौका प्रदान कर रही है, लेकिन बढ़ती भीड़ के चलते कर्मचारियों ने मोबाइल फोन वितरण की प्रक्रिया को रुकवा दिया है।

इस योजना के तहत, ग्रामीण इलाकों के छात्राएं और महिलाएं हर दिन मोबाइल फोन प्राप्त करने के लिए वितरण केंद्र पहुंच रही हैं, लेकिन बढ़ती भीड़ के कारण कर्मचारियों ने मोबाइल फोन वितरण करना बंद कर दिया है। इससे बहुत सी महिलाएं और छात्राएं मोबाइल फोन नहीं प्राप्त कर पा रही हैं, जिससे उनकी पढ़ाई को नुकसान हो रहा है।

मोबाइल फोन प्राप्त करने के लिए छूट रही छात्राओं ने कहा, “चार-पांच दिन से हम यहां हर दिन आते हैं और हमारी स्कूल की पढ़ाई छूट रही है। हम हर रोज़ स्कूल से छुट्टी लेकर यहां मोबाइल लेने के लिए आते हैं और मोबाइल नहीं दिया जा रहा है। अगर मोबाइल नहीं देना है तो तो मना कर दो, लेकिन हमारा रोज-रोज किराया तो मत लगाओ। हमारा खेती बाड़ी और घर का कामकाज भी नहीं होता है।”

स्मार्टफोन योजना के अंतर्गत मोबाइल फोन वितरण के लिए लाइन में लगी महिलाएं ने कहा कि वे दूर दराज के गांवों से किराए पर हर रोज़ आती हैं और मोबाइल फोन नहीं मिल रहा है।

इस स्थिति में, स्मार्टफोन की आवश्यकता को समझकर यह समाज के सदस्य मोबाइल फोन प्राप्त करने के लिए लगे हुए हैं, लेकिन बढ़ती भीड़ ने मोबाइल फोन वितरण की प्रक्रिया को बाधित किया है। यहां तक कि कर्मचारियों को पुलिस की मदद लेने की आवश्यकता हो गई है ताकि भीड़ को शांत किया जा सके।

सहायक विकास अधिकारी बीरबल ने इस संदर्भ में कहा, “मोबाइल फोन 150 ही है और भीड़ सैकड़ों की संख्या में है, इसलिए अव्यवस्था हो रही है।” वहीं, पुलिस को सूचना कर दी गई है और मोबाइल फोन वितरण की प्रक्रिया शुरू की जाएगी, जितने जल्दी हो सके, जब भीड़ कम होगी।

इस मामूले में महिलाएं और छात्राएं अपने शिक्षा को बढ़ाने के लिए मोबाइल फोन की आवश्यकता को समझ रही हैं, और वे इसके लिए सड़कों पर उतरकर अपने अधिकार की रक्षा कर रही हैं।

By khabarhardin

Journalist & Chief News Editor

Enable Notifications OK No thanks