उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने गुरुवार को वाराणसी में अधिकारियों को सख्त निर्देश दिए कि वाहनों पर जातिसूचक बोर्ड लगाने वालों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाए. उन्होंने कहा कि इस पर प्रभावी रूप से रोक लगाई जाए और कार या बाइक पर ब्राह्मण, जाट, राजपूत, गुर्जर लिखने वालों की खैर नहीं होगी.

मुख्यमंत्री ने चेन स्नेचिंग की घटनाओं को भी गंभीरता से लिया और कहा कि यह छोटी-छोटी घटनाएं बड़ी बन जाती हैं. उन्होंने पुलिस को निर्देश दिए कि क्षेत्रों में नियमित रूप से पेट्रोलिंग कराएं और वाहनों पर जातिसूचक बोर्ड लगाने वालों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करें.

मुख्यमंत्री ने कहा कि शहर के सभी सीसीटीवी कैमरे हमेशा क्रियाशील रहने चाहिए. उन्होंने कहा कि निर्माणाधीन विकास एवं निर्माण कार्यों को युद्धस्तर पर अभियान चलाकर गुणवत्ता के साथ में निर्धारित समय सीमा में पूर्ण कराएं. उन्होंने कहा कि लाभार्थीपरक योजनाओं का लाभ पात्र लाभार्थियों को प्रत्येक दशा में प्राथमिकता पर उपलब्ध कराया जाए.

मुख्यमंत्री के निर्देशों के बाद पुलिस ने वाहनों पर जातिसूचक बोर्ड लगाने वालों के खिलाफ अभियान शुरू कर दिया है. पुलिस ने अब तक कई लोगों को गिरफ्तार किया है और उनके वाहनों से जातिसूचक बोर्ड हटाए गए हैं.

मुख्यमंत्री के इस कदम का स्वागत किया जा रहा है. लोग मानते हैं कि यह कदम जातिवाद को दूर करने में मदद करेगा और वाराणसी को एक समरस शहर बनाएगा.

By khabarhardin

Journalist & Chief News Editor

Enable Notifications OK No thanks