Income Tax Notice: उत्तर प्रदेश के Gazipur में एक हैरान कर देने वाला मामला सामने आया है। यहां एक सब्जी विक्रेता के बैंक अकाउंट में 172 करोड़ 87 लाख रुपये जमा हो गए हैं। इस बात को जानकर आयकर विभाग भी हैरान रह गया। विभाग ने सब्जी विक्रेता को नोटिस जारी कर कहा है कि उन्होंने करोड़ों रुपये का टैक्स नहीं भरा है।

सब्जी विक्रेता का नाम विनोद रस्तोगी है। वह Ghazipur के गहमर कस्बे में सब्जी का ठेला लगाते हैं। विनोद के मुताबिक, कुछ दिनों पहले उनके बैंक अकाउंट में अचानक 172 करोड़ 87 लाख रुपये जमा हो गए। विनोद को इस बात का कोई अंदाजा नहीं था कि उनके अकाउंट में इतनी बड़ी रकम कैसे आ गई।

जब विनोद को आयकर विभाग का नोटिस मिला तो उन्हें समझ नहीं आया कि क्या करें। विनोद ने बताया कि उन्होंने कभी इतनी बड़ी रकम नहीं कमाई है। उन्होंने किसी से कर्ज भी नहीं लिया है। विनोद का कहना है कि उनके साथ किसी ने धोखाधड़ी की है।

मामले की जांच के बाद पुलिस ने विनोद को साइबर सेल भेज दिया है। साइबर सेल की टीम इस बात की जांच कर रही है कि विनोद के अकाउंट में यह पैसा कैसे आया। पुलिस का कहना है कि जल्द ही इस मामले का खुलासा हो जाएगा।

यह मामला एक बार फिर से साबित करता है कि साइबर अपराध कितना खतरनाक है। लोगों को अपने बैंक अकाउंट और अन्य डिजिटल डिवाइसेज को सुरक्षित रखने के लिए सतर्क रहना चाहिए। किसी भी अनजान व्यक्ति को अपने बैंक अकाउंट या डिजिटल डिवाइसेज की जानकारी नहीं देनी चाहिए।

आयकर विभाग का आया नोटिस

करीब छह माह पहले मैगरराव पट्टी निवासी सब्जी विक्रेता विनोद रस्तोगी के पास आयकर विभाग, वाराणसी का नोटिस आया था। नोटिस के अनुसार उसके यूनियन बैंक के खाते में 172.81 करोड़ रुपये हैं और इसका टैक्स नहीं भरा गया है।

आयकर विभाग को दिया अपने खाते का विवरण

विनोद घबराकर आयकर विभाग के आफिस पहुंचा और अपने खाते का विवरण दिया। तब उसे पता चला कि उसके नाम से एक और खाता चल रहा है, जिसके बारे में उसे पता ही नहीं था। उसने कहा कि इस पैसे से उसका कोई लेना-देना नहीं है। किसी ने उसके दस्तावेजों का गलत इस्तेमाल करके खाता खोल लिया है।

By khabarhardin

Journalist & Chief News Editor

Enable Notifications OK No thanks