कैनबरा, ऑस्ट्रेलिया – ऑस्ट्रेलिया के समुद्र तट पर हाल ही में एक रहस्यमय चीज की खोज होने के संबंध में रोचक जानकारियाँ सामने आई हैं। इस रहस्यमय चीज के पास एक बेलनाकार और दुर्बल तार बांधे रहे थे, जिसने लोगों की रुचि खींच ली। अपने आकर्षण के साथ ही, चीज के भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (ISRO) के साथ किए जाने वाले किसी पुराने कनेक्शन की बातें भी चर्चा में हैं।

चीज की लम्बाई लगभग 2 मीटर है और यह बेलनाकार धातु से बनी हुई थी। इसके साथ ही, एक लंबा तार भी दिखाई देता था जिसके कारण लोगों की जिज्ञासा बढ़ गई कि यह क्या हो सकता है। आवश्यकता पर किए गए प्रश्नों के बावजूद, आधिकारिक तौर पर ऑस्ट्रेलियाई प्राधिकृतों ने इस रहस्यमय चीज के बारे में कोई जानकारी साझा नहीं की है।

जब इस चीज की तस्वीरें सोशल मीडिया पर साझा की गई, तो लोगों की दिमाग में अनेक सवाल उठने लगे। कुछ लोग तो इसे चंद्रयान-3 मिशन से जोड़कर खुदरा रहे, जबकि कुछ ने इसे एलियन या UFO से जोड़ा। यहाँ तक कि कुछ लोगों ने तो इसे गायब हुए बोइंग विमान MH370 से भी जोड़ दिया।

हालांकि, एक रेडिट यूजर ने इस रहस्यमय चीज के बारे में एक दूसरे दृष्टिकोण को उजागर किया है। उनके अनुसार, यह चीज भारत के PSLV रॉकेट के तीसरे चरण का हिस्सा हो सकता है। उन्होंने इसे अपने विचार से समर्थन दिया और बताया कि रॉकेट के ईंधन के सिलेंडर जलने के बाद टैंक गिर जाते हैं, जिसके बाद वे समुद्र में गिर सकते हैं।

इससे पहले भी, ऑस्ट्रेलिया में ऐसे ही अनोखी घटनाओं की रिपोर्टिंग की गई है, जिनमें अंतरराष्ट्रीय अंतरिक्ष संगठनों के कनेक्शन से जुड़ी चीजें मिली हैं। यह रहस्यमय चीज उन सभी विचारों को उत्तेजित करने के लिए एक और उदाहरण हो सकती है, जो हमारे अज्ञात में अद्भुत और रहस्यमय दुनिया की ओर इशारा कर सकता है।

क्या चंद्रयान से जुड़ा है
हालांकि उन्होंने आगे जो बात कही, उससे यह साफ होगा कि यह चंद्रयान-3 मिशन के रॉकेट का हिस्सा नहीं है। उन्होंने कहा, ‘ऐसा लगता है कि यह लंबे समय तक समुद्र तल पर पड़ा रहा। है। इसके ऊपर बार्नाकल जैसे समुद्री जीवों ने अपना घर बना लिया। हो सकता है कि एक तूफान के कारण यह किनारे पर बह आया हो।’ उन्होंने आगे कहा कि यह धमाके के साथ फटने वाला नहीं है। हालांकि रॉकेट फ्यूल जहरीले होते हैं, इसलिए इसे छूना नहीं चाहिए। उन्होंने कहा कि यह कठोर ईंधन था, जिस कारण सुरक्षित है, नहीं तो यह जलन पैदा करता। उनका मानना है कि यह पिछले एक दशक के बीच लॉन्च हुए किसी PSLV का हो सकता है।

यह खबर अगस्त 2023 में आयी थी और ताजा जानकारी के आधार पर अपडेट की गई है।

By khabarhardin

Journalist & Chief News Editor

Enable Notifications OK No thanks