दिल्ली : ‘भाबीजी घर पर हैं‘ के कलाकार आसिफ शेख और रोहिताश्व गौड़ अपने किरदारों विभूति नारायण मिश्रा और मनमोहन तिवारी के लिये बेहद मशहूर हैं। इन्होंने हाल ही में नई दिल्ली के लाल किला में आयोजित लव कुश रामलीला में भाग लिया। ये दोंनो चार साल के अंतराल के बाद एकसाथ इस कार्यक्रम में नजर आये।

आसिफ शेख, जिन्होंने पिछले साल अपनी ऑनस्क्रीन पत्नी अनीता भाबी (विदिशा श्रीवास्तव) के साथ शहर की शोभा बढ़ाई थी, ने दशहरा का जश्न मनाने के लिये एक बार फिर से दिल्ली आने पर अपनी खुशी जाहिर की और कहा कि उन्होंने यहां पर अपनी जिंदगी का एक सबसे महत्वपूर्ण समय बिताया है। वहीं, रोहिताश्व गौड़ को इस यात्रा से अपने अभिनय के शुरूआती दिनों की याद आ गई। रामलीला के भव्य जश्न का आनंद उठाने और प्रतिष्ठित इंडिया गेट पर अपने प्यारे प्रशंसकों से मिलने के अलावा इस बेमिसाल जोड़ी ने दिल्ली के पकवानों के स्वाद चखे, स्थानीय दुकानों में खरीदारी की और शहर के उत्साही माहौल में खुद को सराबोर करते हुये सड़कों पर प्रशंसकों से बातचीत भी की।

आसिफ शेख ऊर्फ विभूति नारायण मिश्रा ने अपना रोमांच व्यक्त करते हुये कहा, ‘‘मेरे दिल में दिल्ली की रामलीला के लिये एक खास स्थान है। मैं जब भी दशहरा का जश्न मनाने के लिये दिल्ली आता हूं, इस त्योहार और यहां के बेमिसाल दर्शकों के लिये मेरा लगाव और बढ़ जाता है। इसमें कोई शक नहीं कि ये रामलीलायें बेहद खास होती हैं, क्योंकि यह किसी भी कलाकार की कला एवं प्रतिभा का सबसे असाधारण प्रदर्शन होता है। मैं रंगमंचीय परफॉर्मेंस का हमेशा से ही एक बड़ा प्रशंसक रहा हूं और दिल्ली की रामलीला मेरे अवश्य देखे जाने वाले कार्यक्रमों की सूची में सबसे ऊपर रहती है।

हालांकि, मुझे कभी भी रामलीला में भाग लेने का मौका नहीं मिला, लेकिन मैं अपने दोस्तों के साथ लाल किला आया करता था और हम सबसे आगे की सीट्स लेने की कोशिश करते थे, ताकि कलाकारों के परफॉर्मेंस का एकदम नजदीक से आनंद उठा पायें। अब मुझे मंच पर इसे लाइव देखने का मौका मिलता है और लोग हौसलाअफजाई करते रहते हैं, जिसे देखकर बहुत अच्छा लगता है। हमारे दर्शकों से यहां मिले प्यार एवं लगाव के लिये मैं बेहद आभारी हूं। मेरा दिल खुशी से फूला नहीं समाता।

एक बार फिर चार साल के लंबे अंतराल के बाद मेरे सह-कलाकार रोहिताश्व (तिवारी जी) इस अनुभव को साझा करने के लिये मेरे साथ थे। इस मौके पर आयोजकों एवं वहां आये लोगों दोनों ने जिस प्यार एवं ऊर्जा के साथ हमारा स्वागत किया, उससे ऐसा लगा कि हम सातवें आसमान पर पहुंच गये हैं

। ‘दिल्ली वालों ने एक बार फिर हमारा दिल जीत लिया!‘‘ अभिनेता ने आगे कहा, ‘‘भव्य समारोह में भाग लेने के अलावा मैं और रोहिताश्व दिल्ली के स्थानीय आकर्षणों जैसे कि इंडिया गेट आदि भी घूमने गये और शहर में सालों पहले बिताये गये अपने पुराने दिनों को याद किया। मैंने उन्हें अपने कुछ पसंदीदा खाने-पीने की जगहें दिखाईं और हमने हर व्यंजन का एकसाथ आनंद उठाया। इसमें कोई शक नहीं है कि मेरे लिये हमेशा की तरह यह एक वाकई में यादगार सफर था।‘‘

रोहिताश्व गौड़ ऊर्फ मनमोहन तिवारी ने आगे कहा, ‘‘रामलीला देखकर मुझे अपने कॉलेज के दिनों की याद आ गई, जब मैं चंडीगढ़ के पास कालका में रामलीला में भाग लेने जाया करता था। मुझे अक्सर अंगद और विभीषण का रोल निभाने के लिये दिया जाता था, लेकिन मन ही मन मैं राम की भूमिका निभाया करता था (मुस्कुराते हैं)।

दिल्ली में अपने दोस्त और सह-कलाकार आसिफ शेख, जोकि हमारे शो में मेरे पड़ोसी बने हैं, के साथ रामलीला देखने के लिये दूसरी बार आना बेहद यादगार सफर था। इस भव्य समारोह को देखना हमारे लिये सौभाग्य की बात है, जिसमें हजारों लोग आते हैं और वास्तव में यह एक आत्मिक अनुभव था। हालांकि, अपने नेशनल स्कूल ऑफ ड्रामा के दिनों में मैं दिल्ली में ही रहता था, लेकिन उस समय हमारे व्यस्त शेड्यूल की वजह से मुझे इस शहर को बहुत ज्यादा जानने का मौका नहीं मिल पाया।

हालांकि, आसिफ जी परफेक्ट होस्ट थे और यहां के स्थानीय व्यंजनों के लिये मेरे प्यार को वो भली-भांति जानते हैं। उन्होंने शहर के कुछ बेहतरीन पकवानों से मुझे परिचित कराया, जिनमें स्वादिष्ट छोले-भटूरे से लेकर दिल्ली की मशहूर चाट तक शामिल है। हमें हमारे प्रशंसकों से जुड़ने का भी मौका मिला और उन्होंने हमारी यात्रा के दौरान हम पर जो प्यार बरसाया है, वो मेरे दिल में हमेशा बसा रहेगा। मैं बार-बार इस शहर में आने के लिये उत्सुक हूं।‘‘

आसिफ शेख को विभूति नारायण मिश्रा और रोहिताश्व गौड़ को मनमोहन तिवारी के रूप में देखिये, ‘‘भाबीजी घर पर हैं‘ में हर सोमवार से शुक्रवार, रात 10ः30 बजे सिर्फ एण्डटीवी पर!

By khabarhardin

Journalist & Chief News Editor

Enable Notifications OK No thanks