Sextortion Case: बड़े सेक्सटॉर्शन गिरोह का पर्दाफाश, जानिए मोदी के मंत्री को कॉल पर फांसाने की कोशिशSextortion Case: बड़े सेक्सटॉर्शन गिरोह का पर्दाफाश, जानिए मोदी के मंत्री को कॉल पर फांसाने की कोशिश

Sextortion Case: दिल्ली पुलिस ने एक बड़े सेक्सटॉर्शन गिरोह को पकड़ा, जिसने केंद्रीय जल शक्ति और खाद्य प्रसंस्करण उद्योग मंत्री प्रह्लाद सिंह पटेल को Sextortion कॉल करने की कोशिश की। राजस्थान के भरतपुर से गिरफ्तार दोनों आरोपियों ने एक बड़े संगठित गिरोह का पर्दाफाश किया है। इस गिरोह का मास्टरमाइंड अभी भी फरार है।

मंत्री प्रह्लाद सिंह पटेल को अज्ञात नंबर से वीडियो कॉल मिली, जिसमें एक पॉर्न क्लिप चलाया गया था। आरोपियों ने सोशल मीडिया पर पॉर्न देखते मंत्री का वीडियो क्लिप जारी करने की धमकी दी थी। मंत्री ने तुरंत कॉल काट दी, लेकिन थोड़ी देर बाद ही उन्हें दोबारा कॉल आई और कॉल करने वाले ने पॉर्न देखते उनका वीडियो सोशल मीडिया पर जारी करने की धमकी दी। कॉलर ने कहा कि अगर बेइज्जती से बचना है तो वो पैसे दें।

मंत्री प्रह्लाद सिंह पटेल
मंत्री प्रह्लाद सिंह पटेल

इस घटना के बाद मंत्री ने अपने कानूनी सलाहकार से परामर्श लेकर दिल्ली पुलिस में शिकायत करने का फैसला लिया। पुलिस ने आईपीसी की धारा 420 (धोखाधड़ी) और 419 (प्रतिरूपण) (इंपर्सोनेशन) के तहत एक प्राथमिकी दर्ज करते हुए जांच शुरू कर दी। पुलिस ने आरोपियों के दोनों फोन नंबर को ट्रेस करते हुए उन्हें गिरफ्तार कर लिया और वीडियो कॉल का फॉरेंसिक जांच के लिए भेज दिया गया।

साइबर गैंग के एक अधिकारी ने बताया कि गिरोह के दो आरोपी एक संगठित सेक्सटॉर्शन रैकेट का हिस्सा हैं। बड़े सेक्सटॉर्शन गिरोह के मास्टरमाइंड अभी भी फरार है और उसे पकड़ने के लिए पुलिस तलाश जारी है। दिल्ली पुलिस का दावा है कि इस घटना के पीछे एक बड़ी गिरोह है जो Sextortion के जरिए लोगों से धन लूट रहा था

मो. वकील और मो. साहिब अरेस्ट, मास्टरमाइंड मो. साबिर फरार

दिल्ली पुलिस के एक अधिकारी ने कहा, ‘प्राथमिकी दर्ज करने के बाद हमने दो लोगों, मोहम्मद वकील और मोहम्मद साहिब को गिरफ्तार किया है। मास्टरमाइंड मोहम्मद साबिर अभी भी फरार है और उसे पकड़ने के लिए तलाश जारी है।’ पुलिस के अनुसार, दोनों आरोपी एक संगठित Sextortion रैकेट का हिस्सा हैं।

मंत्री प्रह्लाद पटेल ने अंग्रेजी अखबार द इंडियन एक्सप्रेस से कहा, ‘मैंने घटना के तुरंत बाद अपने कार्यालय के माध्यम से शिकायत दर्ज कराई’। उन्होंने बताया कि वो मध्य प्रदेश में अपने गांव जा रहे थे, तभी उन्हें वीडियो कॉल आई थी। उन्होंने कहा, ‘मैंने दिल्ली पुलिस के साथ सभी प्रासंगिक जानकारियां साझा कीं। कुछ दिन पहले, मैंने पुलिस में अपनी शिकायत दर्ज कराई और मुझे सूचित किया गया कि उन्होंने नंबरों का पता लगा लिया है।’

बड़े सेक्सटॉर्शन गिरोह का खुलासा

बड़े Sextortion गिरोह का पर्दाफाश

पुलिस ने उन दो फोन नंबरों का पता लगाया जिनसे राज्य मंत्री को भरतपुर निवासी मोहम्मद साबिर और असम के एक पते पर कॉल आए थे। एक अधिकारी ने कहा, ‘जांच दल को पता चला कि एक सिम का इस्तेमाल 36 अंतरराष्ट्रीय आईएमईआई नंबरों में किया गया था, जबकि दूसरे का इस्तेमाल 18 आईएमईआई नंबरों में किया गया था।’ एक अधिकारी ने कहा, ‘स्थानीय पुलिस के मुखबिरों की मदद से जाल बिछाया गया जिसमें दो आरोपी फंस गए। पुलिस ने एक सेलफोन बरामद किया जिससे वीडियो कॉल की गई थी। उसे फोरेंसिक जांच के लिए भेज दिया गया।’

By manmohan singh

News editor and Journalist

Enable Notifications OK No thanks