जयपुर में विरोध प्रदर्शन: बीजेपी कार्यकर्ताओं ने मुख्यमंत्री का पुतला दहन कियाजयपुर में विरोध प्रदर्शन: बीजेपी कार्यकर्ताओं ने मुख्यमंत्री का पुतला दहन किया

जयपुर, राजस्थान – राजस्थान के भीलवाड़ा में हुए गैंगरेप और हत्या के मामले को लेकर विरोध लगातार बढ़ता जा रहा है। शुक्रवार शाम, जयपुर के कालवाड़ रोड पर भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) गोकुलपुरा मंडल की ओर से आरोपियों को फांसी की सजा देने की मांग को लेकर प्रदर्शन किया गया।

प्रदर्शनकारियों ने विध्वंसक मुख्यमंत्री अशोक गहलोत का पुतला दहन किया, जिससे कालवाड़ रोड पर बड़ी भीड़ इकट्ठी हो गई। यह प्रदर्शन राहगीरों को काफी मुसीबत का सामना करना पड़ा। लेकिन कुछ ही देर के बाद मौके पर पहुंची पुलिस टीम ने समझाधांधी कर मामला शांत करवाया।

बीजेपी गोकुलपुरा मंडल के अध्यक्ष सत्येंद्र सिंह सतनाली ने बताया कि राजस्थान में कांग्रेस सरकार के राज में लगातार महिला हिंसा, बलात्कार, हत्या जैसी घटनाएं बढ़ गई हैं। इस बदहाल हालत में महिलाएं अपने घर में रहने से भी डरने लगी हैं। ऐसे में आज हमने आम जनता के साथ मिलकर कालवाड़ रोड पर जाम कर प्रदर्शन किया। अगर जल्द से जल्द दोषियों को पकड़कर उन्हें सख्त से सख्त सजा नहीं दी गई है, तो आने वाले वक्त में हम और उग्र प्रदर्शन करेंगे। इसके लिए राजस्थान सरकार जिम्मेदार होगी।

इस विरोध प्रदर्शन के दौरान यतेन्द्र सिंह, संदीप शर्मा, सुरेन्द्र सिंह, कुलदीप सिंह, सुमन कंवर, धर्मेन्द्र चौधरी, जितेन्द्र सिंह, अनुज शर्मा, के के शर्मा, विनोद शर्मा, सुरज्ञान मीणा, बुद्धराज सिंह, रमेश प्रजापति समेत बड़ी संख्या में बीजेपी कार्यकर्त्ता और आम जनता मौजूद रही।

यह विरोध प्रदर्शन कुछ ही दिन पहले हुए घिनौने घटना के पीड़ित परिवार के साथ होने से उत्पन्न हुआ है। बुधवार को भीलवाड़ा के कोटड़ी थाना क्षेत्र में एक 14 साल की नाब

ालिग के साथ गैंगरेप कर उसका मर्डर कर दिया गया था। पीड़िता शाम तक घर नहीं लौटी तो उसके परिवार ने ढूंढने की कोशिश की। जब रात 10 बजे गांव से 1 किलोमीटर दूर पीड़िता के पिता को खेत में कोयले की भट्ठी जलती हुई दिखाई दी, तो उन्होंने पुलिस को सूचित किया। जब पुलिस पहुंची तो वहां पीड़िता के जूते मिले। उसके बाद वहां पर खड़े आरोपियों ने बताया कि उन्होंने पीड़िता का गैंगरेप कर जला दिया है। इस घटना के बाद प्रदेशभर में विरोध का सिलसिला शुरू हो गया है।

यह प्रदर्शन भीलवाड़ा में जनसंख्या के बढ़ते विकृत संबंधों के विरुद्ध एक नई सचेतना का प्रतीक है और सरकार से न्यायपालन की मांग कर रहा है। इस संबंध में विरोध प्रदर्शन करने वाले कार्यकर्ताओं ने कहा कि सरकार को दोषियों को सख्त से सख्त सजा देने की जिम्मेदारी उठानी चाहिए और महिलाओं की सुरक्षा को मजबूत करने के लिए सख्त कदम उठाने चाहिए। इसके अलावा वे अधिक से अधिक लोगों को इस विरोध के साथ जुड़ने के लिए आह्वान कर रहे हैं।

यह घटना राजस्थान सरकार के लिए बड़ी चुनौती है, जो आम जनता के भरोसे को पुनः स्थापित करने के लिए सक्रिय रूप से कदम उठाने के लिए अपने कर्तव्यों को निभाने की जरूरत है। यह गंभीर मुद्दा समाज के हर वर्ग को संबोधित कर रहा है और समय के साथ इसके समाधान के लिए जोश भी बढ़ रहा है।

सरकार को इस समस्या का सामना करने के लिए जल्द से जल्द कठोर कदम उठाने की आवश्यकता है ताकि राजस्थान राज्य में एक सुरक्षित और विकासशील माहौल स्थापित किया जा सके।

By Jagnnath Singh Rao

Jagnnath Singh Rao - News Editor and Journalist

Enable Notifications OK No thanks