जयपुर : मस्तिष्क हमारे शरीर का सबसे महत्वपूर्ण अंग है और इसका स्वस्थ रहना हमारे जीवन की गुणवत्ता का आधार है। जून महीने को विश्व मस्तिष्क स्वास्थ्य जागरूकता महीना (Brain Awareness Month) के रूप में मनाया जाता है। इस अवसर पर, हम आपको दिमाग में गड़बड़ी के कुछ शुरुआती संकेतों के बारे में बता रहे हैं, ताकि आप समय रहते सचेत हो सकें और उचित इलाज करवा सकें।

डॉ एसपी पाटीदार
डॉ एसपी पाटीदार

न्यूरोलॉजिस्ट डॉ. एस.पी. पाटीदार, जो जयपुर के Jeevan Rekha Superspeciality Hospital में कार्यरत हैं, का कहना है कि “अगर आपको इनमें से कोई भी लक्षण दिखाई दे, तो तुरंत डॉक्टर से संपर्क करें। शुरुआती निदान और उपचार मस्तिष्क क्षति को रोकने और जीवन की गुणवत्ता में सुधार करने में मदद कर सकते हैं।”

दिमाग में गड़बड़ी के 7 संकेत:

1. याददाश्त कमजोर होना: चीजों को भूल जाना, महत्वपूर्ण घटनाओं को याद रखने में परेशानी होना।
2. सोचने में परेशानी: निर्णय लेने में कठिनाई, समस्याओं को सुलझाने में परेशानी।
3. भाषा में परेशानी: शब्दों को खोजने में परेशानी, बोलने में परेशानी।
4. मूड में बदलाव: चिड़चिड़ापन, उदासी, चिंता, अवसाद।
5. व्यवहार में बदलाव: व्यक्तित्व में बदलाव, सामाजिक रूप से अलग-थलग रहना।
6. शारीरिक समस्याएं: सिरदर्द, चक्कर आना, संतुलन की समस्या, समन्वय की कमी।
7. अचानक से चेतना खोना

डॉ. पाटीदार यह भी सलाह देते हैं कि स्वस्थ जीवनशैली बनाए रखने से मस्तिष्क को स्वस्थ रखने में मदद मिल सकती है। इसमें पर्याप्त नींद लेना, स्वस्थ आहार खाना, नियमित रूप से व्यायाम करना, तनाव कम करना, धूम्रपान और शराब से दूर रहना शामिल है। किसी भी स्वास्थ्य समस्या के लिए डॉक्टर से परामर्श जरूर लें।

By khabarhardin

Journalist & Chief News Editor