भोलेनाथ के भक्ति में कल्लू ने गाया "शिव के मन भावे", दर्शकों ने सराहा

भोजपुरी सुपरस्टार अरविंद अकेला कल्लू सावन के महीने में एक और धमाकेदार गाना महादेव के भक्तों के समक्ष प्रस्तुत किया है। गाने के बोल है “शिव के मन भावे”, जिसे सारेगामा हम भोजपुरी के ऑफिशियल यूट्यूब चैनल से रिलीज किया गया है। कल्लू के इस गाने को 1 दिन में 2 मिलियन से अधिक लोगों ने देख लिया और उसके भी उसकी संख्या हर मिनट तेजी से बढ़ रही है। कल्लू इस सावन एक से बढ़कर एक भगवान शिव के लिए गाना गा चुके हैं। यह गाना उन सब से अलग और भक्तिमय हैं, जो उनके फैंस को भी खूब पसंद आ रहा है और वह उसकी सराहना कर रहे हैं।

वही गाना “शिव के मन भावे” को लेकर अरविंद अकेला कल्लू ने बताया कि भगवान शिव सबों के मनों में बसते हैं। हमने अपने इस गाने के जरिए उनकी भक्ति और महिमा का बखान किया है। इसलिए यह शिव भक्तों के साथ भोजपुरी के श्रोताओं को भी खूब पसंद आ रहा है। बाबा के गीत बेहद सुरीले और भक्ति भाव से ओतप्रोत है जिन्हें गाने में भी आंतरिक स्थिरता का बोध होता है। गाना “शिव के मन भावे” ऐसा ही एक बेहतरीन गाना है।

आप सभी गाने को सुने और खूब प्यार और आशीर्वाद दें। वही सारेगामा हम भोजपुरी की ओर से कहा गया है कि गाने का कांटेक्ट जो भी हो, क्वालिटी से समझौता नहीं। हमने एक हमने एक माइलस्टोन सेट किया है और उसके साथ सारेगामा भोजपुरी रिलीज होने वाले सभी गाने आगे बढ़ रहे हैं। यह गाना भी उसमें खास है।

1 4

गौरतलब है कि “शिव के मन भावे” गाना में जहां अरविंद अकेला कल्लू के सुरीले स्वर है। वही इसके म्यूजिक वीडियो में कल्लू और निशा वर्मा की शानदार उपस्थिति दर्शकों को पसंद आ रही है। इस गाने के गीतकार आशुतोष तिवारी है जबकि म्यूजिक प्रियांशु सिंह का है। कोरियोग्राफर लकी विश्वकर्मा है। डीओपी योगेश सिंह हैं। एडिटर सिद्धार्थ गोस्वामी हैं। प्रोडक्शन आकाश विश्वकर्मा का है और पीआरओ रंजन सिन्हा हैं।

By रंजन सिन्हा

रंजन सिन्हा : भोजपुरी फिल्म पत्रकार और जनसंपर्क अधिकारी (पीआरओ) हैं, जिनके पास मनोरंजन उद्योग में व्यापक अनुभव है। उन्हें भोजपुरी फिल्म उद्योग की गहरी समझ है और वे अपनी अंतर्दृष्टिपूर्ण रिपोर्टिंग और भोजपुरी फिल्मों की निष्पक्ष समीक्षा के लिए जाने जाते हैं। रंजन सिन्हा ने एक प्रमुख समाचार पत्र के लिए एक रिपोर्टर के रूप में पत्रकारिता में अपना करियर शुरू किया और जल्द ही भोजपुरी फिल्म उद्योग को कवर करने के लिए चले गए। उसके बाद से उन्होंने खुद को क्षेत्र के सबसे भरोसेमंद और सम्मानित पत्रकारों में से एक के रूप में स्थापित किया है, उनके काम को प्रमुख मीडिया आउटलेट्स में नियमित रूप से प्रदर्शित किया जाता है। पीआरओ के रूप में, रंजन सिन्हा ने भोजपुरी फिल्म उद्योग में कुछ सबसे बड़े नामों के साथ काम किया है, जिससे उन्हें अपनी फिल्मों को बढ़ावा देने और व्यापक दर्शकों तक पहुंचने में मदद मिली है। मार्केटिंग और प्रमोशन पर उनकी पैनी नजर है और ये अपनी इनोवेटिव और इफेक्टिव स्ट्रैटेजी के लिए जाने जाते हैं।