एण्डटीवी के पास दमदार कहानियों से दर्शकों को लुभाने की एक मजबूत विरासत है। इसका सबसे अच्छा उदाहरण है दिसंबर 2019 में लाॅन्च हुए शो ‘एक महानायक- डाॅ. बी. आर. आम्बेडकर. की सफलता। यह शो डाॅ. आम्बेडकर की जीवन-यात्रा दिखाता है। इस उपलब्धि ने दिलचस्प कहानियों पर लगातार काम करने के लिये चैनल को रास्ता दिखाया है, जैसे कि उसका नया शो ‘अटल’। यह शो 5 दिसंबर को रात 8ः00 बजे शुरू हुआ था और इसमें स्वर्गीय श्री अटल बिहारी वाजपेयी के बचपन की कहानी दिखाई गई है।


यूफोरिया प्रोडक्शंस द्वारा निर्मित इस शो में उस नेता के बचपन को दिखाया गया है, जिसने भारत के भविष्य को आकार देने में एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाई थी। भारत में ब्रिटिश काॅलोनियल सत्ता की पृष्ठभूमि पर आधारित यह शो अटल बिहारी वाजपेयी के बचपन की मुश्किलों के बारे में बताएगा। इसमें उन घटनाओं, मान्यताओं और चुनौतियों पर रोशनी डाली जाएगी, जिन्होंने उन्हें एक महान नेता बनाया। कहानी में उनकी माँ के साथ उनके सम्बंधों को भी दिखाया जाएगा। उनकी माँ का उनकी धारणाओं, मूल्यों और सोच पर गहरा प्रभाव था। एक ओर तो भारत ब्रिटिश राज के तहत दासता का सामना कर रहा था और दूसरी ओर आंतरिक कलह तथा धन, जाति के अंतर और भेदभाव से जूझ रहा था। अखण्ड भारत के लिये अटल की माँ ने जो सपना देखा था, वह अटल जी के दिल में गहराई से उतर गया था। कहानी में अटल बिहारी वाजपेयी की प्रेरक गाथा का खुलासा होता है। वह विनम्र पृष्ठभूमि से शुरूआत कर भारत के सबसे प्रमुख नेताओं में से एक बने। इस शो में व्योम ठक्कर बने हैं ‘नन्हे अटल’, नेहा जोशी बनी हैं अटल की माँ ‘कृष्णा देवी वाजपेयी’, आशुतोष कुलकर्णी बने हैं उनके पिता ‘कृष्ण बिहारी वाजपेयी’ और मिलिंद दस्ताने ने उनके दादाजी ‘श्याम लाल वाजपेयी’ की भूमिका निभाई है।

By khabarhardin

Journalist & Chief News Editor