मुजफ्फरनगर (Muzaffarnagar), उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh): यू-ट्यूब सिंगर फरमानी नाज (Farmani Naaz) के भाई खुर्शीद को चाकुओं से गोदकर हत्या कर दी गई, जिसके कारण राज्य में भयानक तनाव मचा है।

घटना का समाचार मिलते ही मुजफ्फरनगर के रतनपुरी थाना क्षेत्र के गांव मोहम्मदपुर माफी में दहशतपूर्वक महसूस किया जा रहा है। शनिवार की देर शाम को बाइक सवार तीन अज्ञात बदमाशों ने फरमानी नाज के चचेरे भाई खुर्शीद पर हमला किया। जबरदस्ती उसे चाकुओं से गोदकर किया गया था।

घटना के बाद अभियुक्त बिना किसी रुकावट के फरार हो गए। पुलिस ने घटना स्थल पर पहुंचकर जांच की शुरुआत की और मृतक खुर्शीद के शव का पंचनामा भरकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। जानकारी के मुताबिक, मृतक खुर्शीद लोकप्रिय गायिका फरमानी नाज के चचेरे भाई थे।

इस मामले में पुलिस का कोई भी अधिकारी मीडिया से बात करने को तैयार नहीं है. दरअसल, घटना रतनपुरी थाना क्षेत्र के गांव मोहम्मदपुर माफी की है, जहां शनिवार शाम तक़रीबन 7.45 बजे 19 वर्षीय खुर्शीद नाम के एक युवक पर बाइक सवार तीन अज्ञात बदमाशों ने धारदार हथियारों से हमला कर दिया था. इस हमले में खुर्शीद गंभीर रूप से घायल हो गया. परिजनों ने घायल खुर्शीद को उपचार के लिए अस्पताल में भर्ती कराया, जहां उपचार के दौरान चिकित्सकों द्वारा उसे मृत घोषित कर दिया गया.

मृतक का नाम खुर्शीद पुत्र अली मोहम्मद है. युवक 7:30 बजे के करीब नमाज पढ़ कर आया था और खाना खाकर सड़क पर घूमने चला गया था. गांव से करीब डेढ़ सौ मीटर आगे जाकर 3 लोग बाइक पर आए और बिना कुछ पूछे उसके ऊपर चाकुओं से हमला कर दिया. हमारे गांव में आज से पहले कोई ऐसी घटना नहीं हुई है. इसमें तीन लोग बताए जा रहे है और मृतक फरमानी नाज (Farmani Naaz) के चाचा का लड़का है.

एसपी देहात अतुल श्रीवास्तव ने बताया कि हत्यारों का पता नहीं चल सका है। शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया। अभी तक घटना के संबंध में कोई तहरीर प्राप्त नहीं हुई है।

पांच भाइयों में तीसरे नंबर का था खुर्शीद

ग्रामीणों ने बताया कि खुर्शीद पांच भाइयों में तीसरे नंबर का था। पिता वली मोहम्मद भी मजदूरी करते है। वह भी मेहनत मजदूरी कर पिता का हाथ बंटाता था।

जान बचाने के लिए खुर्शीद ने की खूब जद्दोजहद भाई को भी की कॉल 

खुर्शीद ने हमले के वक्त जान बचाने के लिए खूब जद्दोजहद की थी। जान बचाकर भागते वक्त उसने अपने भाई को मोबाइल से कॉल भी की, लेकिन बात नहीं हो पाई। उसका भाई जब मौके पर पहुंचा तब तक हमलावर फरार हो चुके थे और खुर्शीद लहूलुहान हालत में पड़ा था।

ग्रामीणों के अनुसार हमलावरों ने उसे घेर कर चाकू हमला किया तो वह बचाने के लिए चीखता- चिल्लाता हुआ भागा था। इसी दौरान उसने अपने बड़े भाई शाहरुख को मोबाइल से कॉल भी की। मगर, बात नहीं हो पाई। इसके बाद शाहरुख परिजनों और गांव के लोगों के साथ मौके पर पहुंचा तो हमलावर भाग चुके थे।

ग्रामीण उसे अस्पताल में ले गए थे, जहां उसकी मौत हो गई थी। परिजनों का कहना है कि उनकी किसी से रंजिश नहीं है।

By khabarhardin

Journalist & Chief News Editor