जयपुर, भारत : राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने आज एक विवादास्पद बयान दिया है। उन्होंने कहा है कि भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) और राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) के लोगों ने देश में हिंदुत्व का माहौल बना दिया है, जिससे कांग्रेस पार्टी को भी घबराहट है। उन्होंने कहा कि शायद लोगों को कांग्रेस पार्टी को वोट नहीं देंगे, लेकिन वह डटे रहेंगे।

गहलोत के इस बयान पर भाजपा नेताओं ने तीखी प्रतिक्रिया दी है। भाजपा के राष्ट्रीय प्रवक्ता गौरव भाटिया ने कहा है कि गहलोत का बयान कांग्रेस पार्टी की हताशा और निराशा को दर्शाता है। उन्होंने कहा कि गहलोत को लोगों का समर्थन नहीं मिल रहा है, इसलिए वह ऐसे बयान देकर लोगों का ध्यान भटकाने की कोशिश कर रहे हैं।

गहलोत के बयान से राजनीतिक गलियारों में हलचल मच गई है। माना जा रहा है कि यह बयान आगामी विधानसभा चुनावों में कांग्रेस पार्टी की रणनीति का हिस्सा हो सकता है।

विशेषज्ञों की राय

राजनीतिक विश्लेषकों का कहना है कि गहलोत का बयान भाजपा को साधने की कोशिश हो सकती है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस पार्टी मुस्लिम समुदाय के वोटों को अपने पक्ष में करने की कोशिश कर रही है और इस बयान से मुस्लिम समुदाय के बीच सहानुभूति पैदा हो सकती है।

हालांकि, कुछ विश्लेषकों का कहना है कि गहलोत का बयान उल्टा पड़ सकता है। उन्होंने कहा कि इस बयान से हिंदू समुदाय के बीच नाराजगी पैदा हो सकती है, जिससे कांग्रेस पार्टी को नुकसान हो सकता है।

यह देखना दिलचस्प होगा कि गहलोत के इस बयान का क्या असर होता है।

By khabarhardin

Journalist & Chief News Editor

Enable Notifications OK No thanks