जयपुर : राजस्थान के जयपुर शहर के सिविल लाइंस विधानसभा क्षेत्र में राजनीतिक समीकरण बदलते दिख रहे हैं। यहां कांग्रेस प्रत्याशी प्रताप सिंह खाचरियावास की मुश्किलें बढ़ गई हैं। भाजपा प्रत्याशी गोपाल शर्मा की बढ़ती लोकप्रियता के कारण ऐसा लग रहा है कि जनता खाचरियावास से किनारा कर रही है।

खबरों के मुताबिक, प्रताप सिंह खाचरियावास पिछले कुछ दिनों से लगातार जनसंपर्क कर रहे हैं। वह लोगों को संकल्प दिलवा रहे हैं कि वे उन्हें ही वोट देंगे। ऐसा लगता है कि उन्हें अपनी जीत को लेकर डर है।

हालांकि, जनता का मूड उनके पक्ष में नहीं दिख रहा है। लोगों का कहना है कि प्रताप सिंह खाचरियावास ने पहले भी कई वादें किए हैं, लेकिन उनमें से ज्यादातर पूरे नहीं हुए हैं। इसलिए, इस बार वे किसी नए चेहरे को मौका देना चाहते हैं।

भाजपा प्रत्याशी गोपाल शर्मा भी लगातार जनता से संपर्क कर रहे हैं। उन्होंने लोगों को भरोसा दिलाया है कि अगर उन्हें मौका मिला तो वे क्षेत्र का विकास करेंगे।

इस चुनाव में सिविल लाइंस में मुकाबला दिलचस्प होने वाला है। दोनों प्रत्याशी जीत के लिए पूरी ताकत झोंक रहे हैं।

खाचरियावास के जनसंपर्क से जनता में नाराजगी

प्रताप सिंह खाचरियावास के लगातार जनसंपर्क से जनता में नाराजगी भी बढ़ रही है। लोगों का कहना है कि खाचरियावास सिर्फ चुनाव के समय ही लोगों के बीच आते हैं। बाकी समय वे क्षेत्र में विकास के लिए कुछ नहीं करते हैं।

एक स्थानीय निवासी ने कहा, “खाचरियावास ने पहले भी कई वादें की हैं, लेकिन उनमें से ज्यादातर पूरे नहीं हुए हैं। इस बार हम उन्हें एक मौका और नहीं देंगे।”

एक अन्य स्थानीय निवासी ने कहा, “प्रताप सिंह खाचरियावास सिर्फ दिखावा करते हैं। वे क्षेत्र में कुछ भी नहीं करते हैं। इस बार हम गोपाल शर्मा को वोट देंगे।”

गोपाल शर्मा की जीत की उम्मीद बढ़ी

भाजपा प्रत्याशी गोपाल शर्मा की जीत की उम्मीद भी बढ़ रही है। लोगों का कहना है कि गोपाल शर्मा एक नए चेहरे हैं। वे क्षेत्र का विकास करेंगे।

एक स्थानीय निवासी ने कहा, “गोपाल शर्मा एक नए चेहरे हैं। उन्हें क्षेत्र के लोगों की समस्याओं का पता है। मुझे उम्मीद है कि अगर वे जीतते हैं तो क्षेत्र का विकास करेंगे।”

एक अन्य स्थानीय निवासी ने कहा, “प्रताप सिंह खाचरियावास ने क्षेत्र में कुछ भी नहीं किया है। इस बार हम गोपाल शर्मा को वोट देंगे।”

अब देखना होगा कि सिविल लाइंस में चुनाव का परिणाम क्या होता है।

By khabarhardin

Journalist & Chief News Editor

Enable Notifications OK No thanks